वे पीएम हैं, कुछ भी बोल सकते हैं: तेजस्वी यादव

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बिना नाम लिए तेजस्वी यादव को “जंगलराज के युवराज (राजकुमार)” कहने के एक दिन बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री को व्यक्तिगत हमले करने की बजाय भूख और बिहार में बेरोजगारी के मुद्दों पर बात करनी चाहिए थी.

तेजस्वी ने इसपर कटाक्ष करते हुए कहा, “वह देश के प्रधानमंत्री हैं. वह कुछ भी बोल सकते हैं. मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं, लेकिन अगर वह बिहार आए थे, तो उन्हें बेरोजगारी और भूख तथा राज्य के लिए विशेष पैकेज पर बात करनी चाहिए थी. बिहारवासी उम्मीद कर रहे थे कि वह इन मुद्दों पर बोलेंगे”.

वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की राहुल गांधी पर “कोई औकात नहीं” वाली टिप्पणी के बारे में तेजस्वी यादव ने दोहराया कि भाजपा नेताओं को व्यक्तिगत हमले करने के बजाय बेरोजगारी और भ्रष्टाचार जैसे जमीनी स्तर के मुद्दों पर बोलना चाहिए.

तेजस्वी ने दावा किया कि लोगों से मिली जेनरल प्रतिक्रिया से पता चला है कि बुधवार को संपन्न हुए विधानसभा चुनावों के पहले चरण में राजद “क्लीन स्वीप” कर रहा है. उन्होंने कहा, “लोगों से मिली प्रतिक्रिया से, हम यह अनुमान लगा रहे हैं कि हम “क्लीन स्वीप” कर रहे हैं. लोगों ने इस बार हर जाति, वर्ग और धर्म के लोगों ने बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर वोट दिया है.”

बताते चलें कि कल यानि बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने राजद के पिछले शासनकाल पर निशाना साधते हुए महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव को ‘जंगल राज का युवराज’ करार दिया था और दस लाख सरकारी नौकरियों के उनके वादे पर उन्हें आड़े हाथ लिया था.