जनसंख्या विस्फोट हमें पछाड़ रहा, देश में हो एक बच्चे का सख्त कानून

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बीजेपी नेता आरके सिन्हा ने कहा है कि देश में अब समय आ गया है कि हम चीन की तरह दो पति-पत्नी मिलकर एक ही बच्चा पैदा करें. बेटा-बेटी एक समान होते हैं. अगले 50 वर्षों तक तो कम से कम यही होना चाहिए, जब तक कि जनसंख्या घटने न लगे.

बीजेपी के नेता देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर अब मुखर होने लगे हैं. बीजेपी (BJP) के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह जनसंख्या कानून लाने की मांग करते रहे हैं. कड़े लहजे में गिरिराज सिंह ने कई मंचों से इसकी वकालत की है. गिरिराज सिंह ने तो हाल में यहां तक कह दिया कि 70 के दशक में भारत की GDP चीन से ज्यादा थी, आज चीन की GDP भारत से 3 गुना है.

चीन के बारे में बताते हुए गिरिराज ने कहा कि उसने संसाधनों के संरक्षण के लिए जनसंख्या को नियंत्रित किया और विकास पाया. भारत में भी विकास और सामाजिक समरसता के लिए जनसंख्या नियंत्रण बहुत जरूरी है. जनसंख्या विस्फोट हमें पछाड़ रहा है.

वहीं अब बीजेपी के संस्थापक सदस्य और पूर्व सांसद आरके सिन्हा भी जनसंख्या का राग अलापने लगे हैं. सिन्हा ने भारत में एक बच्चे का कानून सख्ती से लागू करने की वकालत शुरु कर दी है.

अपने जमाने से की आज की तुलना

आरके सिन्हा ने कहा कि अभी जनसंख्या नियंत्रण पर चारों ओर बहुत बात चल रही है. उत्तर प्रदेश की सरकार तो एक विधेयक भी लाने जा रही है. बाकी राज्य सरकारों को भी ऐसा ही सोचना चाहिए.

आप यह भी पढ़ें – भारत में यह बन सकता है कोरोना की तीसरी लहर का कारण

सिन्हा ने कहा, ‘मैं तो समझता हूं कि संसद में केंद्रीय विधेयक आना चाहिए. एक जमाना था कि जब हम जितने मर्जी बच्चे पैदा करते थे. धरती पर साधन भी उपलब्ध थे. खाने-पीने, हवा, पानी किसी भी चीज की दिक्कत नहीं थी. लेकिन अब स्थिति अलग है. अब सोचना होगा कि इस बढ़ती जनसंख्या की वजह से सभी संसाधनों में बंटवारा होगा और हिस्से में कुछ नहीं आएगा’.

आप यह भी पढ़ें सबका टीकाकरण तीसरी लहर को रोकने का एकमात्र तरीका – सुशील मोदी

आरके सिन्हा ने अपने बारे में बताया कि उनके माता-पिता ने आठ बच्चे पैदा किए थे. जब मेरा जमाना आया तो देश में हम दो-हमारे दो का नारा लगा. कई लोगों ने इस नारे की कदर की, चिंता भी की. जैसे कि मेरा भी एक ही बेटा और एक ही बेटी है, लेकिन बहुतों ने इसकी चिंता तक नहीं की. वो क्रिकेट टीम पैदा करने लग गए. यह सब बंद होना चाहिए और सख्ती से बंद होना चाहिए.
(सौ:डीबी)