बख्तियारपुर सीओ के खिलाफ युवती ने किया केस, कहा कई सालों से दे रहा था शादी का झांसा

बख्तियारपुर (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| बख्तियारपुर अंचलाधिकारी (Bakhtiyarpur Circle Officer) द्वारा एक युवती पर एफआईआर दर्ज करवाने के बाद मामले में एक नया मोड़ आ गया है. उस युवती ने भी अब बख्तियारपुर थाने में सीओ पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने की प्राथमिकी (FIR lodged against Bakhtiyarpur CO by lady in Bakhtiyarpur Police Station) दर्ज कराई है. इस पूरे मामले में अंचलाधिकारी रघुवीर प्रसाद की मुश्किलें अब बढ़ गई हैं.

बख्तियारपुर अंचल के अंचलाधिकारी पर यौन शोषण का आरोप (Allegation of sexual abuse on the Circle Officer of Bakhtiyarpur Circle) लगाकर युवती ने प्रशासनिक महकमे में सनसनी फैला दी है. लिखित शिकायत में युवती ने आरोप लगाया है कि बेतिया में पदस्थापित होते हुए अंचलाधिकारी रघुवीर प्रसाद ( Bakhtiyarpur Circle Officer Raghubir Prasad) ने पहले तो उससे पिता का संबंध बनाया और फिर उसके बाद रिश्तों को तार-तार कर दिया.

चार सालों से दे रहा था झांसा

बकौल युवती, अंचलाधिकारी रघुवीर प्रसाद से उसके पिछले 4 सालों से संबंध थे. इस दौरान शादी का झांसा देकर अंचलाधिकारी ने कई बार संबंध बनाए. युवती के द्वारा इसका विरोध करने पर सीओ ने वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसे चुप करा दिया.

सीओ की गाड़ी में आग लगाने के मामले और युवती द्वारा दर्ज करवाई गई प्राथमिकी पर बाढ़ एएसपी अरविंद प्रताप सिंह ने कहा कि बेतिया की इस युवती ने सीओ रघुवीर प्रसाद पर प्राथमिकी दर्ज करवाई है. उसने अंचलाधिकारी पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण जैसा गंभीर आरोप लगाया है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

इधर सोमवार को, बख्तियारपुर पुलिस ने अंचलाधिकारी की शिकायत पर एफआईआर दर्ज करते हुए आरोपी युवती को गिरफ्तार कर बाढ़ कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने युवती को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

बाढ़ कोर्ट से निकलते व्यक्त मीडियाकर्मियों ने युवती से बात की. युवती ने कहा कि जिस तरह सीओ की शिकायत पर मुझे गिरफ्तार किया गया, उसी तरह मेरी शिकायत पर भी सीओ को गिरफ्तार करना चाहिए. उसने कहा कि मुझे गिरफ्तार करवा कर वह अपने दफ्तर में कैसे काम कर सकता है जबकि उन्हें भी गिरफ्तार कर लेना चाहिए.

युवती ने कहा कि मैंने कोई क्राइम नहीं किया है. जबकि सीओ ने उसे मुझे खतम करने के लिए सब कुछ किया है. यहां तक कि मेरे सर पर भी मारा है. युवती ने डीएम, एसपी सभी से कहा कि कोई भी लड़की ऐसा नहीं कर सकती है.

यह भी पढ़ें| बख्तियारपुर सीओ की शिकायत पर युवती गिरफ्तार, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत पर

उसने आरोप लगाया कि सीओ के द्वारा उन्हें ब्लैकमेल किया जाता था. युवती ने मीडिया से कहा कि सीओ के द्वारा उसकी फैमिली तक को धमकी दी जाती थी. साथ ही उसके अकाउंट में जो भी पैसे थे वह सीओ के द्वारा निकाल लिए गए थे.

आग मैंने नहीं लगाई

मीडिया द्वारा पूछे जाने पर युवती ने बताया कि सीओ के साथ उसके तीन चार साल से संबंध थे. सीओ की गाड़ी में आग लगाए जाने के मीडिया के सवाल युवती ने कहा कि आग मैंने नहीं लगाई. युवती ने कहा कि थाना के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच कर पता लगाया जा सकता है कि मैंने आग नहीं लगाई थी.

युवती ने बताया कि पिछले 15 जनवरी को सीओ रघुवीर प्रसाद ने उसे फोन कर बेतिया से बख्तियारपुर बुलाया था. उसके बाद साथ लेकर खरीदारी के लिए मॉल भी गया था. युवती ने मीडिया से कहा कि बख्तियारपुर बुलाकर सीओ ने मेरा मोबाइल छिन लिया, मोबाइल के सारे सबूत मिटा दिए और उसके साथ मारपीट की.

बताते चलें, शनिवार 15 जनवरी को बख्तियारपुर सीओ की गाड़ी बख्तियारपुर में बीच बाजार में अचानक जल गई. शुरू में तो गाड़ी के जलने की वजह शार्ट सर्किट बताई गई थी, लेकिन जब पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने गाड़ी जलने की जांच का आदेश दिया तब सीओ ने बख्तियारपुर पुलिस में बेतिया की युवती के खिलाफ सरकारी काम मे बाधा डालने और गाड़ी जलाने का लिखित शिकायत दर्ज किया था.