रूपेश हत्याकांड: परिवार ने खड़ा किया सवाल, कहा रोडरेज वाली थ्योरी पच नहीं रही

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पटना पुलिस द्वारा इंडिगो एयरलाइन्स के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या का कारण रोडरेज बताने वाली थ्योरी पर मृतक रूपेश सिंह के बड़े भाई को भरोसा नहीं है. उन्होंने कहा कि यह बात पचने वाली नहीं है.

बता दें कि बुधवार को पटना पुलिस ने इंडिगो एयरलाइन्स के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या का उद्भेदन किया. पटना पुलिस द्वारा आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका खुलासा पटना के एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने की. उन्होंने मीडिया को बताया कि रूपेश की हत्या रोडरेज के कारण हुई.

इधर मृतक रूपेश सिंह के बड़े भाई नर्वदेश्वर सिंह ने मीडिया को बताया कि रोडरेज उनके भाई की हत्या कोई कारण नहीं हो सकता है. इतनी मामूली सी बात के लिए कोई किसी का मर्डर नहीं कर सकता है. इस प्रकार रूपेश सिंह के परिवार ने पुलिस द्वारा रूपेश की हत्या के खुलासे पर बड़ा सवाल पैदा कर दिया है.

पुलिस की यह बात कि जिस शख्स ने इस घटना को अंजाम देने वाले ने अपने जीवन में पहली बार गोली चलाई, परिवार वालों को हैरान कर दिया है. नर्वदेश्वर सिंह ने कहा कि “इतनी भयानक हत्या हुई है. रोडरेज की घटना, इतनी छोटी से बात सामने आ रही है, ये बात हमलोगों को नहीं पच रही है. इतनी मामूली सी बात को लेकर इतनी बड़ी हत्याकांड को कोई अंजाम दे दे. आये दिन रोड रेज की इतनी सारी घटनाएं हो रही हैं लेकिन इतनी बड़ी घटना को कोई अंजाम तो नहीं दे रहा है. मामूली सी बात पर किसी की हत्या तो नहीं की जा रही है. अब आगे देखिये कि पटना पुलिस आगे पड़ताल कर के क्या निकालती है.”

आप इसे भी पढ़ेंबहुचर्चित रूपेश ह’त्याकां’ड का खुलासा, रोडरेज में हुई ह’त्या

एक टीवी चैनल को नर्वदेश्वर सिंह ने बताया कि उनके भाई रूपेश का ऐसा कोई इतिहास नहीं रहा जब उसने किसी पर हाथ उठाई हो. उन्होंने बताया कि रूपेश ने कभी उन्हें नवंबर में हुए इस रोडरेज के बारे में नहीं बताया था.

मृतक के भाई ने कहा कि पुलिस की थ्योरी को गलत नहीं बताया है लेकिन कहा है कि यह बात पचने वाली नहीं है. उन्होंने कहा कि इस कांड में पुलिस और प्रशासन के बड़े-बड़े अधिकार लगे हुए हैं, तो ऐसी स्थिति में पुलिस को गलत नहीं कहा जा सकता है. उन्होंने कहा कि रोडरेज जैसी छोटी घटना के कारण मर्डर को अंजाम दिया जाए,, इसको स्वीकार नहीं सकते हैं.

गौरतलब है कि 12 जनवरी को पटना में रूपेश सिंह की हत्या उनके घर के ही गेट पर ऑफिस से लौटने के क्रम में कर दी गई थी. इस हत्याकांड की जांच के लिए बिहार सरकार ने स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) का गठन किया था. एसआईटी ने कई विभागों में जाकर पूछताछ भी की थी. साथ ही पटना पुलिस और सीआईडी भी मामले की तहकीकात कर रही थी.