सुशील मोदी ने नीतीश सरकार को किया आगाह, कहा कोरोना की तीसरी लहर आने के पहले करे यह काम

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पूरे देश में आजकल कोरोना की दूसरी लहर ने कोहराम मचा रखा है. हर तरफ से केवल बुरी खबर आ रही है. लेकिन पिछले दिनों नए कोरोना संक्रमण की संख्या में कमी आई है.

कोरोना की दूसरी लहर के प्रसार की रफ्तार को देखकर देश के वैज्ञानिकों ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर आने की भी प्रबल संभावना है. वैसे वैज्ञानिकों ने तीसरी लहर के आने को लेकर कोई सटीक जानकारी नहीं दी है. हां, लेकिन ये जरूर कहा है कि तीसरी लहर को लेकर काफी सचेत रहना होगा. इस कारण बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी सांसद सुशील मोदी ने बिहार सरकार को आगाह किया है.

सुशील मोदी ने कहा है कि बिहार सरकार कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए सतर्क हो जाना चाहिये. उन्होंने नीतीश सरकार से कहा है कि तीसरी लहर आने से पहले राज्य के कोविड अस्पतालों में बच्चों के लिए अलग वार्ड और आइसीयू बनाने की तैयारी अभी से करनी चाहिए.

बच्चों में वैक्सीन ट्रायल के लिए मिल गई है मंजूरी

केंद्र और राज्य सरकार ने वैज्ञानिकों द्वारा किए गए पूर्वानुमान को ध्यान में रखते हुए अपनी तैयारी शुरू कर दी है. इधर बच्चों में कोरोना वैक्सीन लगाने हेतु भारत बायोटेक के वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी गई है.

आप इसे भी पढ़ें बिहार में 25 मई तक लॉकडाउन में कुछ नियम बदलें, जानिए क्या हैं ये बदलाव

मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, “2 से 18 साल के बच्चों के टीकाकरण को लेकर विशेषज्ञों की राय को ध्यान में रखते हुए सरकार ने भारत बॉयोटेक को टीके के दूसरे और तीसरे चरण के क्लिनिकल परीक्षण की अनुमति दी है. अच्छी बात है कि क्लिनिकल ट्रायल के लिए जिन केंद्रों को चुना गया है, उनमें पटना का एम्स भी शामिल है.”

उन्होंने कहा, “कोरोना की दूसरी लहर के बीच भारत सरकार ने 114 दिनों में 17 करोड़ डोज लगवा कर सबसे तेज टीकाकरण का रिकार्ड बनाया और मात्र 11 दिनों में 18 पार के लगभग 25 लाख युवाओं को भी पहली डोज लगा दी गई.”