Big NewsBreakingदेश- दुनिया

मोरक्को में जोर का भूकंप, मची अफरा-तफरी

रबात (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शुक्रवार देर रात मोरक्को में आए शक्तिशाली भूकंप में कम से कम 1,037 लोग मारे गए और 1,000 से अधिक घायल हो गए. अधिकांश मौतें दूरदराज के पहाड़ी क्षेत्रों में हुईं. रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 6.8 थी जिसका केंद्र पृथ्वी की सतह से लगभग 18.5 किमी नीचे था.

अफ्रीकी देश मोरक्को में देर रात भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. 6.8 तीव्रता के भूकंप ने यहां भारी तबाही मचाई है. सूत्रों के अनुसार, भूकंप के कारण बड़ी संख्या में इमारतें जमींदोज हो गई हैं. आशंका जताई जा रही है कि अभी भी मलबे में लोग फंसे हुए हैं. तेज भूकंप का झटका तब आया जब लोग गहरी नींद में सो रहे थे. भूकंप का केंद्र मोरक्को के मराकेश शहर से 71 किलोमीटर दूर बताया जा रहा है. रेस्क्यू टीम मौके पर है और राहत बचाव अभियान जारी है.

भूकंप का केंद्र धरती के 18.5 किलोमीटर गहराई में बताया जा रहा है. भकंप के झटके स्थानीय समयानुसार शुक्रवार रात 11 बजे महसूस किए गए. मराकेश शहर में बड़ी संख्या में घर गिरे हैं. तबाही के बाद स्थानीय लोगों ने राहत बचाव का काम शुरू किया. सोशल मीडिया पर सामने आए वीडियो में तबाही का मंजर देखा जा सकता है. सड़कों पर मलबा जमा है.

तबाही से मची अफरा तफरी

भूकंप के झटके को महसूस करते ही स्थानीय लोगों के बीच अफरातफरी मच गई. लोग अपने घरों को छोड़कर सड़कों पर निकल आए. स्थानीय लोगों ने बताया कि भूकंप का झटका इतना तेज था कि लोग चीख-पुकार मचाने लगे. लेकिन भूकंप शांत होने के बाद भी लोगों के मन में डर बना हुआ है और वे अपने घरों में दोबारा जाने से डर रहे हैं.

संयुक्त राज्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (USGS) के मुताबिक उत्तर अफ्रीका में बीते 120 सालों में आए भूकंप में यह सबसे शक्तिशाली भूकंप माना जा रहा है. इससे पहले देश में जो भी भूकंप आए वह पूर्वी क्षेत्रों में आए हैं.

मदद के लिए शुरू हुआ अभियान

मोरक्को के लोगों की मदद के लिए इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट सोसायटीज ने मिलकर फंडिंग के लिए अभियान शुरू किया था. 2.3 बिलियन डॉलर की फंडिंग इकट्ठा करने के लिए यह अभियान चलाया गया. फंडिंग से आए पैसों का लक्ष्य पीड़ितों के लिए टेंट, कम्बल, हीटर्स, चटाई और खाना जुटाना था.

पीएम मोदी ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बीच मोरक्को भूकंप में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है और कहा है कि भारत मोरक्को की हर संभव मदद करने के लिए तैयार है.