12वीं की परीक्षा देने जा रहे बच्चों के लिए खास खबर

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | कोरोना के कारण छात्र स्कूल नहीं आये है और स्कूल की सारी पढ़ाई ऑनलाइन तरीके से की जा रही है. ऐसे में इस बार ऑनलाइन क्लास और उनकी गतिविधि पर ही इंटरनल मार्किंग होगी. इस बार इंटरनल मार्किंग में ऑनलाइन क्लास के अटेंडेंस को भी शामिल किया गया है. इसके अलावा प्रोजेक्ट वर्क भी शामिल किया जायेगा. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के 12वीं के छात्रों को सैध्दांतिक और प्रायोगिक परीक्षा में अलग अलग पास करना होगा.

सैद्धांतिक परीक्षा यानि थ्योरी परीक्षा में छात्रों को कम से कम 33 फीसदी अंक लाने होंगे. वहीं, प्रायोगिक परीक्षा में भी पास करने के लिए 33 फीसदी अंक चाहिए. 10वीं में इस बार भी सैद्धांतिक और आंतरिक मूल्यांकन को मिलाकर ही उत्तीर्णता रखी गई है. यानी छात्रों को सैद्धांतिक और आंतरिक मूल्यांकन मिलाकर 33 फीसदी अंक लाने होंगे, तभी वह पास कर पाएंगे.

ज्ञात हो कि 12वीं में प्रायोगिक विषय में 70 अंक का सैद्धांतिक और 30 अंक की प्रायोगिक परीक्षा होती है. वहीं, बिना प्रायोगिक विषय में 80 अंक की सैद्धांतिक और 20 अंक की प्रायोगिक परीक्षा ली जाती है. अब बोर्ड ने दसवीं के सभी विषय में आंतरिक मूल्यांकन 20 अंकों का कर दिया है. यानी दसवीं में सैद्धांतिक परीक्षा 80 अंक की और आंतरिक मूल्यांकन 20 अंकों का होगा. दसवीं में 100 अंक में 33 फीसदी पास के लिए चाहिए. वहीं 12वीं मे प्रायोगिक विषय में 70 में 33 फीसदी यानी 23 अंक और बिना प्रायोगिक विषय में 80 में 33 फीसदी यानी 26 अंक पास करने को चाहिए.

दसवीं में 74 और 12वीं में 119 विषयों की परीक्षा ली जाएगी. बोर्ड द्वारा सभी विषयों के अंक की जानकारी दे दी गई है. विषय कोड के साथ विषय का नाम, थ्योरी का कुल अंक, प्रैक्टिकल का अंक, प्रोजेक्ट अंक, आंतरिक मूल्यांकन आदि की जानकारी दी है.

error: Content is protected !!