पटना जंक्शन अब निजी हाथ में सौंपने की तैयारी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | मोदी राज में सरकारी सम्पत्तियों को जमकर निजी हाथों में बेचा गया है. देश के कई प्रसिद्ध सार्वजनिक कम्पनियों के बाद केंद्र सरकार रेलवे का भी निजीकरण करने की तैयारी में हैं. हाल ही में ट्रेनों को निजी हाथों में देने के बाद अब 25 प्रमुख स्टेशनों को निजी हाथों में सौंपा जा सकता है. इनमें पटना जंक्शन भी शामिल है.

पहले चरण में देश के दो बड़े स्टेशनों, हबीबगंज व गांधीनगर को विकसित करने के लिए निजी हाथों में सौंपा गया है. हालांकि, पटना जंक्शन किस निजी कंपनी को जाएगी इसका निर्णय अभी तक नहीं लिया गया है. इसकी जिम्मेदारी रेलवे विकास निगम को सौंपी गई है.

पूर्व-मध्य रेल के जीएम ने बताया कि यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखकर कुछ ट्रेनों को निजी हाथों में देने के बाद अब कुछ स्टेशनों के विकास के लिए उन्हें निजी हाथों में देने की तैयारी है. उन्‍होंने बताया कि पटना जंक्शन के लिए दो-तीन बड़े व्यवसायी दिलचस्पी ले रहे हैं. लेकिन अभी तक इस संबंध में कोई निविदा जारी नहीं की गई है.

निजी कंपनियों को एयरपोर्ट की तर्ज पर स्टेशन पर यात्री सुविधाएं उपलब्ध करानी होंगी. स्टेशन के रखरखाव व ट्रेनों की धुलाई व रखरखाव से लेकर स्टेशन परिसर की पार्किंग, सफाई, ट्रेनों में पानी भरने, स्टेशन को रोशन करने, प्लेटफार्म पर फूडस्टाल लगाने की जिम्मेदारी आदि निजी कम्पनयों को दिया जायेगा.

पूर्व-मध्य रेल के जीएम ने बताया कि ट्रेन परिचालन अथवा यात्रा-टिकट बेचने को छोड़कर अन्य सारे काम निजी हाथों को सौंप दिए जाएंगे.

Advertisements