पटना जिला में 7 दिनों का पूर्ण लॉकडाउन, शुक्रवार से होगा लागू

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पटना जिला में कोरोना संक्रमण के विस्फोटक रूप धारण करने पर सरकार ने शुक्रवार 10 जुलाई से सात दिनों के लिए लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है.

बुधवार 8 जुलाई को कोविड-19 संक्रमण के रिकार्ड 235 नए केसों की पुष्टि व विस्फोटक स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार एवं प्रशासन अलर्ट मोड में आ गया है.

इधर, लॉकडाउन की घोषणा में यह भी बताया गया है कि सचिवालयों में आम आदमी की एंट्री बैन रहेगी. जैसा की मालूम है, पटना सदर का अंचल कार्यालय पहले से ही बंद कर दिया गया है.

आप ये भी जानना चाहेंगे –
पटना लॉकडाउन में ये रहेंगे खुले या बंद

पटना जिले में कोरोना की भयावह स्थिति को देखते हुए पटना के डीएम कुमार रवि ने आवश्‍यक बैठक की. सूत्रों के मुताबिक पटना जिला में सात दिनों के लिए लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी गई है जो शुक्रवार से लागू होगा. इस बैठक में पटना के डीएम, सिविल सर्जन के अलावे अन्य कई वरीय अधिकारी भी मौजूद थे.

इसे भी जानिए –
फिर से हुई ह’त्या; उसी जगह, उसी समय

बताया जा रहा है कि बिहार में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्य सचिव दीपक कुमार ने जिलों के डीएम को फैसला लेने के लिए अधिकृत कर दिया है. इसके अनुसार स्थिति का आकलन करते हुए जिला के डीएम लॉकडाउन का फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं. इधर, जिन जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की गई है, उन आदेशों की पुष्टि भी मुख्य सचिव द्वारा कर दी गई है.

इधर, पटना के सभी सचिवालयों में आम आदमी के घुसने पर रोक लगा दी गई है. बुधवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई जिसकी अध्यक्षता मुख़्य सचिव ने की. इसी बैठक में य‍ह निर्णय लिया गया तथा सचिवालय के सभी सुरक्षा कर्मियों को निर्देश जारी कर दिया गया है.

बताते चले कि आइटी सेल के कर्मी को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पटना सदर का अंचल कार्यालय सोमवार से ही सील कर दिया गया है तथा पूरे कार्यालय को सेनेटाइज किया जा रहा है.