कोरोना के नए रूप पर चिंताओं के बीच सेंसेक्स 1,407 अंक लुढ़का

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| ब्रिटेन में मिले कोविड-19 के एक नए रूप पर चिंताओं के बीच बेंचमार्क बीएसई सेंसेक्स के 1,400 से अधिक अंक टूटने से सोमवार को इक्विटी सूचकांकों में भारी गिरावट आई. 30-शेयर बीएसई सूचकांक 1,407 अंक या 3 प्रतिशत की गिरावट के साथ 45,554 पर बंद हुआ; जबकि एनएसई निफ्टी 432 अंक या 3.14 प्रतिशत घटकर 13,328 पर बंद हुआ.

बीएसई पैक में प्रमुख लैगार्ड्स में ओएनजीसी, इंडसइंड बैंक, महिंद्रा एण्ड महिंद्रा, एसबीआई, एनटीपीसी, आईटीसी, एक्सिस बैंक और पॉवरग्रिड के शेयरों में 9.15 प्रतिशत तक की गिरावट आई. एनएसई प्लेटफॉर्म पर, सभी उप-सूचकांक लाल निफ्टी पीएसयू बैंक और मीडिया में 6.93 प्रतिशत नीचे आ गए.

इस कारण घरेलू शेयर बाजारों में जबर्दस्त बिकवाली का माहौल रहा और एक दिन में निवेशकों के लगभग 7,000 अरब रुपये डूब गए. बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 185 लाख करोड़ रुपये से गिरकर 178 लाख करोड़ रुपये रह गया.

देश की सबसे धनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) का शेयर 2.92% के गिरावट के साथ 1934 रुपये पर लुढ़क गया. इस कारण कंपनी का मार्केट कैप 13.47 लाख करोड़ रुपये से घटकर 12.26 लाख करोड़ रुपये हो गया.

इसी तरह एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप 7.77 लाख करोड़ रुपये से घटकर 7.61 लाख करोड़ रुपये हो गया जबकि आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 3.57 लाख करोड़ रुपये से घटकर 3.39 लाख करोड़ रुपये हो गया. एफएमसीजी की सबसे बड़ी कंपनी आईटीसी का मार्केट कैप 2.64 लाख करोड़ रुपये से घटकर 2.46 लाख करोड़ रुपये रह गया.

दूसरी ओर, एनएसई पर 100 से अधिक शेयर अपने 52 हफ्ते के उच्चतम स्तर पर पहुंचने में सफल रहे. इनमें 20 Microns, Birlasoft, Cadila Healthcare, Cera Sanitaryware, HFCL, HIL, Ice Maker Refrigeration और Gland Pharma प्रमुख रूप से शामिल हैं.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने न्यूज एजेंसी को बताया कि ब्रिटेन में वायरस का एक नया और तेजी से फैलने वाला रूप चिंता का एक विषय है. उन्होंने कहा कि अमेरिका में संक्रमण मामलों की संख्या में बढ़ोत्तरी और खराब आर्थिक आंकड़े भी चिंतनीय हैं.

भारत सरकार ने ब्रिटेन में पाए जाने वाले एक नए और अधिक संक्रामक कोरोनावायरस वैरिएंट की आशंका के बीच 23 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच सभी उड़ानों को निलंबित करने का फैसला किया है.

आपने ये खबर पढ़ी क्याब्रिटेन में मिले कोरोना के नए रूप से विश्व में खौफ, भारत में आपात बैठक

भारत कनाडा, जर्मनी, फ्रांस, नीदरलैंड, बेल्जियम, डेनमार्क और इटली जैसे देशों की सूची में शामिल हो गया है, जिन्होंने अस्थायी रूप से यूके से आने वाली उड़ानें रद्द कर दी हैं. दुनिया भर के देशों ने ब्रिटेन से उड़ानों और यात्रियों पर प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है क्योंकि लंदन ने कहा कि अधिक संक्रामक नए कोरोनोवायरस रूप का प्रसार “नियंत्रण से बाहर” है. 19 दिसंबर को, ब्रिटेन के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने घोषणा की थी कि वायरस का नया वैरीएंट 70 प्रतिशत तक अधिक हो सकती है. ब्रिटिश स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक के अनुसार, नया संस्करण “नियंत्रण से बाहर” था.