सौरभ गांगुली लौटे घर, तीन दिन पहले हुई थी एंजियोप्लास्टी

कोलकाता (TBN – The Bihar Now डेस्क)| भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के प्रमुख सौरभ गांगुली को रविवार सुबह हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई. तीन दिनों पहले उनकी दुबारा एंजियोप्लास्टी की गई थी.

बता दें कि 48 वर्षीय गांगुली सौरभ गांगुली (Saurabh Ganguli) की तबीयत पिछले बुधवार को फिर से बिगड़ गई थी. परिजनों के अनुसार उन्हें बेचैनी महसूस हुई थी जिसके बाद उन्हें अपोलो अस्पताल (Apollo Hospital) ले जाया गया था. गांगुली बुधवार को एक महीने में दूसरी बार अस्पताल में भर्ती हुए थे.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरभ गांगुली की इस महीने के पहले हफ्ते में ही वुडलैंड्स अस्पताल में एंजियोप्लास्टी हुई थी.

प्रख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ देवी शेट्टी और डॉ अश्विन मेहता तथा अन्य चिकित्सकों के दल ने गत बृहस्पतिवार को उनकी एंजियोप्लास्टी की थी और गांगुली की धमनियों में दो स्टेंट डाले थे.

यह भी पढ़ेंबिहार बोर्ड की 9वीं की वार्षिक परीक्षा 26 फरवरी से, देखिए शेड्यूल

अपोलो हॉस्पिटल के एक सीनियर डॉक्टर ने बताया कि गांगुली की सेहत ठीक है और उनका हृदय सामान्य व्यक्ति की भांति सेहतमंद है. उन्होंने बताया कि गांगुली का स्वास्थ्य बहुत तेजी से नॉर्मल हुआ है और उम्मीद है कि कुछ ही दिन में वह अपना सामान्य जीवन जी सकेंगे.

उन्होंने मीडिया को बताया कि सौरभ गांगुली को अभी अपना रूटीन संयमित रखना पड़ेगा और कुछ महीने नियमित रूप से दवाइयां लेनी पड़ेगी.

आप यह भी पढ़ेंअपराधियों की पौ-बारह, एसआई को मा’री गो’ली

बता दें कि इसी महीने के शुरू में गांगुली को सीने में दर्द उठा था जब वे जिम में कसरत कर रहे थे. उस वक्त उन्हें वुडलैंड्स अस्पताल में भर्ती किया गया जहां डॉक्टरों ने टेस्ट के बाद उनकी धमनियों में रुकावट पाई थी. फिर गांगुली की उस हॉस्पिटल में एंजियोप्लास्टी हुई थी.

पिछली बार वुडलैंड्स अस्पताल में उनकी इलाज नौ सदस्यीय चिकित्सा टीम द्वारा की गई थी. इस टीम में डॉ देवी शेट्टी, डॉ आर के पांडा, डॉ सैमुअल मैथ्यू, डॉ अश्विन मेहता तथा न्यूयॉर्क से डॉ शमिन के शर्मा जैसे विशेषज्ञों से राय लेने के बाद एंजियोप्लास्टी कर गांगुली के दिल की धमनी में स्टेंट डाला गया था.