पूर्व मध्य रेल में हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया गणतंत्र दिवस

हाजीपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर बुधवार को पूर्व मध्य रेल मुख्यालय हाजीपुर (Republic Day celebrated with great enthusiasm at East Central Rail Headquarter, Hajipur) में गणतंत्र दिवस समारोह काफी हर्षोल्लास से मनाया गया. इस अवसर पर जीएम अनुपम शर्मा (Anupan Sharma, GM, ECR) द्वारा झंडोतोलन किया गया एवं राष्ट्रध्वज को सलामी दी गयी. स्काउट्स एंड गाईड के सदस्यों ने भी राष्ट्रीय धुन बजाकर राष्ट्रीय ध्वज की सलामी दी. इसके उपरांत उन्होंने रेल सुरक्षा बल एवं स्काउट्स एंड गाईड के सदस्यों के परेड का निरीक्षण किया. उन्होंने रेलकर्मियों, रेल उपयोगकर्ताओं, मीडिया प्रतिनिधियों सहित सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनायें दी.

इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक अशोक कुमार मिश्र, प्रधान मुख्य कार्मिक अधिकारी जेकेपी सिंह, प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त एस मयंक एवं अन्य उच्चाधिकारीगण उपस्थित थे. साथ ही पूर्व मध्य रेल के यूनियन/एसोशिएसन संगठन के पदाधिकारी, अधिकारी एवं रेलकर्मी भी उपस्थित थे. पूर्व मध्य रेल महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा भारती शर्मा सहित संगठन की अन्य सदस्यायें भी गणतंत्र दिवस समारोह में उपस्थित थीं. कोरोना के मद्देनजर आज के गणतंत्र दिवस समारोह को यू-ट्यूब एवं फेसबुक पर लाइव प्रसारित किया गया ताकि रेलकर्मियों एवं उनके परिवार के सदस्य अपने घरों से ही इस समारोह का हिस्सा बन सकें.

समारोह में उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संबोधित करते हुए जीएम अनुपम शर्मा ने कहा कि आज पूरा विश्व कोविड-19 के महामारी के दौर से गुजर रहा है और हमें बताते हुए खुशी हो रही है कि वैक्सिनेशन हेतु विशेष अभियान के तहत कोरोना से बचाव हेतु शत-प्रतिशत कर्मचारियों का वैक्सिनेशन कराया जा चुका है. 60 वर्ष से अधिक आयु के सेवानिवृत रेलकर्मियों व उनके आश्रितों एवं फ्रंटलाईन चिकित्साकर्मियों को वैक्सिन का बूस्टर डोज लगाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि साथ ही 15-18 आयु वर्ग के आश्रितों का वैक्सिनेशन प्रारंभ हो चुका है. कोविड-19 (ओमिक्रॉन) बीमारी में जांच के लिए केन्द्रीय चिकित्सालय, पटना में लैब स्थापित किया जा रहा है जिससे कोरोना जांच सुगमतापूर्वक किया जा सकेगा. केन्द्रीय चिकित्सालय, पटना एवं सभी मंडल चिकित्सालयों में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जा चुका है जिससे भर्ती मरीजों को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति की जा सकेगी.

इसके साथ ही जीएम ने पूर्व मध्य रेल द्वारा प्राप्त उपलब्धियों का संक्षिप्त विवरण भी प्रस्तुत किया. उन्होंने कहा कि कोविड-19 की चुनौतियों के बावजूद रेलवे ने सतत् विकास एवं मुस्कान के साथ यात्रियों की सुरक्षित यात्रा की प्रतिबद्धता का निर्वहन करते हुए चालू वित्तीय वर्ष (2020-21) में अबतक कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं.

जीएम ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष के प्रथम नौ महीनों में पूर्व मध्य रेल को कुल 16 हजार 110 करोड़ रुपये की प्रारंभिक आय प्राप्त हुई है जो पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में 45.15 प्रतिशत अधिक है. चालू वित्तीय वर्ष में दिसम्बर माह तक हमने 119.42 मिलियन टन माल ढुलाई की है जो पिछले वित्तीय वर्ष की समान अवधि की तुलना में 19.95 प्रतिशत अधिक है. स्क्रैप बिक्री के क्षेत्र में 2021-22 में रु. 240 करोड़ लक्ष्य के विरूद्ध दिसंबर माह तक रु. 184 करोड़ की आय प्राप्त हो चुकी है. सवारी डिब्बा मरम्मत कारखाना, हरनौत द्वारा वर्ष 2021 में 668 कोचों का POH किया गया है, जो लक्ष्य से 26 प्रतिशत अधिक है.

आधारभूत संरचनाओं के विकास पर बोलते हुए जीएम ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष में अबतक 42 किमी दोहरीकरण, 20 किमी आमान परिवर्तन तथा 09 किमी नई लाईन का निर्माण कार्य पूरा करते हुए कुल 71 किमी लाईन परिचालन हेतु खोला जा चुका है. चालू वित्तीय वर्ष में कुल 80 रूट किलोमीटर का विद्युतीकरण कार्य पूरा किया गया है.

मिशन रफ्तार (Mission Raftaar) के बारे में बताते हुए जीएम ने कहा कि इसके तहत् धनबाद से पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन रूट पर ट्रेन की गतिसीमा 160 किमी/घंटा करने के लिए कार्य प्रगति पर है. कटरिया-कुरसेला के बीच कोसी नदी पर रेल पुल का निर्माण पूर्ण हो जाने से बरौनी-कटिहार रेलखंड पूर्णतः दोहरीकृत हो गया है.

उन्होंने बताया कि शीघ्र ही पाटलिपुत्र-पहलेजाघाट नवदोहरीकृत रेलखंड पर गाड़ियों का परिचालन प्रारंभ हो जाएगा. पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन से सोननगर तक डेडिकेटड फ्रेट कॉरिडॉर का निर्माण लगभग पूर्ण हो चुका है. शीघ्र ही इस पर मालगाड़ियों का परिचालन प्रारंभ होने जा रहा है. सोननगर से पतरातु तक तीसरी लाइन हेतु निर्माण कार्य प्रगति पर है.

यह भी पढ़ें| छात्र कानून को हाथ में न ले, उनकी चिंताओं को किया जाएगा दूर – रेल मंत्री

यात्री सुविधा पर बोलते हुए जीएम ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष में अब तक 04 जोड़ी नई ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ किया गया, 02 जोड़ी ट्रेनों का परिचालन विस्तार किया गया, 03 जोड़ी ट्रेनों में 12 कोच का स्थायी संयोजन किया गया, विभिन्न ट्रेनों में 357 कोच का अस्थायी संयोजन किया गया.

उन्होंने बताया कि राजेन्द्रनगर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के रेक को 01 सितंबर, 2021 से तेजस रेक में परिवर्तित किया गया है. यात्रियों की सुविधा हेतु चालू वित्तीय वर्ष में अब तक गया स्टेशन पर एक लिफ्ट एवं दरभंगा स्टेशन पर एक Escalator, 18 स्टेशनों पर FOB, 13 प्लेटफार्मों का उच्चीकरण या विस्तारीकरण किया गया है. इस वित्तीय वर्ष में अब तक 17 स्टेशनों पर Wifi, 09 स्टेशनों पर ट्रेन इंडिकेशन बोर्ड, 05 स्टेशनों पर कोच इंडिकेशन बोर्ड, 05 स्टेशनों पर CCTV एवं 17 स्टेशनों पर उद्घोषणा प्रणाली लगाये गये हैं. यात्रियों की सुविधा हेतु पं. दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन एवं गया स्टेशन पर डिस्पोजेबल वेड रोल कंफर्ट किट एवं सेफ्टी किट की बिक्री हेतु छोटे कियोस्क लगाये गये हैं.