बागी उम्मीदवार कामरान अजीज और आर एस पांडेय ने भरा नामांकन

बगहा (इमरान अजीज – The Bihar Now रिपोर्ट) | बगहा विस क्षेत्र के चुनाव में इस बार बीजेपी के बाद कांग्रेस में भी बगावत का स्वर उभर आया है. पिछली बार उप विजेता रहे कामरान अजीज को टिकट नहीं दिए जाने के विरोध में उन्होंने निर्दलीय नामांकन किया.

इधर बीजेपी के बागी विधायक आर एस पांडेय ने भी आज अपना नामांकन भरा. बतौर निर्दलीय उम्मीदवार उन्होंने बगहा विधानसभा से पर्चा दाखिल किया. बता दें कि बगहा से विधायक आर एस पांडेय इस बर बीजेपी से टिकट कटने के बाद बागी हो गए हैं. बगहा बीजेपी जिलाध्यक्ष श्रीराम सिंह को इस बार बीजेपी ने टिकट दिया है. उन्होंने सोमवार को बीजेपी प्रत्याशी बगहा विधानसभा क्षेत्र के लिए नामांकन भरा था.

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के बागी उम्मीदवार कामरान अज़ीज़ ने भी आज निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पर्चा दाखिल किया. वे महागठबंधन में कांग्रेस से टिकट कटने के बाद बागी हो गए हैं.

अजीज ने कहा कि वर्षों से कांग्रेस कार्यकर्ता होने के बावजूद पार्टी ने इस बार टिकट से वंचित किया. निर्दलीय उम्मीदवार कामरान अज़ीज़ ने पार्टी पर अनदेखी का आरोप लगाया. दी बिहार नाउ (The Bihar Now) से बात करते हुए उन्होंने बताया कि अपार जनसमर्थन की बदौलत ही उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ने का फ़ैसला लिया है.

बता दें कि इस बार बगहा से जेडीयू नेत्री व पूर्व सदस्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग बिहार अपर्णा सिंह बहुरानी के पुत्र जयेश मंगल सिंह को कांग्रेस का टिकट मिला है. उन्होंने सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया.

सोमवार को ही रामनगर की बीजेपी विधायक भागीरथी देवी के ख़िलाफ़ उन्हीं की पतोहू रानी कुमारी ने भी निर्दलीय नामांकन किया था. रानी कुमारी ने अपनी सास भागीरथी देवी को हत्यारन बताया था. साथ ही उन्होंने कहा था कि भागीरथी देवी मेरी सास नहीं दुश्मन हैं.