आम बजट 2021: प्रिंट मीडिया इंडस्ट्री को कोई राहत नहीं, टूटी उम्मीदें

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किए गए केंद्रीय बजट 2021 से न्यूजपेपर पब्लिशर्स को निराशा हाथ लगी है. कुछ छूट का इंतजार कर रहे इस इंडस्ट्री की उम्मीदें टूट गई हैं.

पिछले लगभग एक साल से कोरोना काल में सर्कुलेशन प्रभावित होने के बाद प्रिंट मीडिया इंडस्ट्री को काफी नुकसान उठाना पड़ा है. ऐसी स्थिति में प्रिंट मीडिया इंडस्ट्री को इस बजट में न्यूजप्रिंट पर कस्टम ड्यूटी में पांच प्रतिशत छूट मिलने की उम्मीद थी. लेकिन, बजट में इस तरह की कोई घोषणा नहीं की गई. इससे इंडस्ट्री की उम्मीदें टूट गई हैं.

इस बजट में अखबारों और मैगजींस में इस्तेमाल होने वाले कागज यानी न्यूजप्रिंट पर कस्टम ड्यूटी में पांच प्रतिशत छूट मिलने का इंतजार कर प्रिंट इंडस्ट्री को निराशा ही हाथ लगी है.

बता दें कि पिछले साल प्रिंट मीडिया पब्लिशर्स को उस समय राहत मिली थी, जब न्यूजप्रिंट पर कस्टम ड्यूटी 10 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दी गई थी. कस्टम ड्यूटी में इस कटौती से पब्लिशर्स के लिए लागत में भारी कमी आई थी.

आप यह भी पढ़ें आम नागरिकों के लिए कर में बदलाव नहीं, वरिष्ठ नागरिकों को छूट

हालांकि, जुलाई 2019 से पहले न्यूजपेपर बिजनेस में इस कैटेगरी के लिए किसी तरह की कस्टम ड्यूटी नहीं थी. ऐसे में पिछले साल कस्टम ड्यूटी में की गई कटौती की घोषणा का स्वागत किया गया था, क्योंकि इससे न्यूजप्रिंट में प्रति टन 1500 से 1700 रुपये की बचत हुई थी. देश में वर्तमान में सालाना रूप से 2.5 मिलियन टन न्यूजप्रिंट की मांग है.