एम्स ऋषिकेश सहित 35 ऑक्सीजन संयंत्रों का पीएम ने किया उद्घाटन, रेल अस्पतालों में भी अब उपलब्ध

हाजीपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गुरुवार को प्रधानमंत्री ने देश के सभी राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से राष्ट्र को समर्पित किया. इसके पहले उनके द्वारा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेष में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का राष्ट्र को समर्पण किया गया.

इसी कड़ी में रेलकर्मियों के व्यापक स्वास्थ्य हित के मद्देनजर पूर्व मध्य रेल के दानापुर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय, धनबाद के मंडल रेल अस्पतालों में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन तथा सोनपुर एवं समस्तीपुर मंडल के मंडल रेल अस्पताल एवं सेंट्रल सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल, पटना में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का शिलान्यास किया गया.

पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल के मंडल रेल अस्पताल में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण केन्द्रीय भारी उद्योग मंत्री डॉ महेन्द्र नाथ पाण्डेय द्वारा किया गया.

उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल में लोगों की सुविधा के मद्देनजर इस अस्पताल की क्षमता 60 बेड से बढ़ाकर 115 बेड की व्यवस्था करवायी थी और आज इस ऑक्सीजन प्लांट के चालू हो जाने से अब किसी बेड पर ऑक्सीजन सिलिन्डर लगाकर ऑक्सीजन नहीं देना होगा बल्कि हर बेड पर ऑक्सीजन की सप्लाई पाईपलाइन द्वारा की जाएगी जैसे किसी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल में होती है. इस अवसर पर विधायक साधना सिंह, विधायक सुशील सिंह एवं मंडल रेल प्रबंधक राजेश कुमार पाण्डेय सहित अन्य उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे.

इसी कड़ी में सेंट्रल सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल, पटना में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का शिलान्यास राज्य के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन के द्वारा किया गया . उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना काल ने हम सबको ऑक्सीजन प्लांट की आवश्यकता से रूबरू कराया और प्रधानमंत्री के निर्देश पर इस आपदा को अवसर में बदलते हुए पूरे देश के प्रमुख अस्पतलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का कार्य किया जा रहा है. इस अवसर पर पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक अनुपम शर्मा सहित पूर्व मध्य रेल के उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे.

इसी तरह दानापुर मंडल के मंडल रेल अस्पताल में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी द्वारा किया गया. इस अवसर पर विधायक रीतलाल राय एवं मंडल रेल प्रबंधक प्रभात कुमार सहित अन्य उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे.

धनबाद मंडल के मंडल रेल अस्पताल में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना का उद्घाटन सांसद पशुपति नाथ सिंह के द्वारा किया गया. इस अवसर पर विधायक राज सिन्हा एवं मंडल रेल प्रबंधक आशीष बंसल सहित अन्य उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे.

समस्तीपुर मंडल के मंडल रेल अस्पताल में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का शिलान्यास सांसद प्रिंस राज द्वारा किया गया. इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक आलोक अग्रवाल सहित अन्य उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे.

इसी कड़ी में सोनपुर मंडल के मंडल रेल अस्पताल में भी पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का षिलान्यास किया गया जहां विधायक डॉ रामानुज प्रसाद एवं मंडल रेल प्रबंधक नीलमणि सहित अन्य उच्चाधिकारीगण एवं चिकित्सकगण उपस्थित थे .

सेंट्रल सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पीटल, पटना में आयोजित समारोह में महाप्रबंधक अनुपम शर्मा ने अपने स्वागत संबोधन नितिन नवीन एवं उपस्थित अन्य लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि आज हम सभी पीएम नरेन्द्र मोदी के आभारी हैं जिनके दिशा-निर्देश में कार्य करते हुए भारतीय रेल एक नई ऊँचाई की ओर अग्रसर है. इसी क्रम में प्रधानमंत्री आज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेष में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का राष्ट्र को समर्पण कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि केंद्रीय सुपर स्पेशियलिटी चिकित्सालय, पटना में रोज लगभग 900 कर्मचारी एवं सेवानिवृत कर्मचारियों एवं उनके आश्रितों का इलाज होता है. यहां करीब 40 चिकित्सक अपनी सेवाएं दे रहे हैं. इस अस्पताल का शुभारंभ 22 जनवरी, 2009 को ओपीडी तथा अन्य डायग्नोस्टिक सेवा के साथ हुई थी. 150 बेडों के साथ आईपीडी सेवा की शुरूआत 25 मई, 2012 को हुई थी. अभी यह अस्पताल 200 बेडों की क्षमता के साथ सुचारू रूप से कार्य कर रहा है.

अभी इन सभी बेडों पर ऑक्सीजन की सप्लाई सेंट्रल पाईप लाइन से सिलेंडर के द्वारा की जा रही है. अब यहां ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लग जाने से हॉस्पीटल में ही प्रतिदिन उत्पादित करीब 100 सिलेंडर के बराबर ऑक्सीजन की सप्लाई मरीजों तक पाईपलाईन के द्वारा संभव हो सकेगा. इस प्लांट से कोविड-19 के विरूद्ध जो जंग हमने छेड़ा है उसे जीतने में हमें कामयाबी मिलेगी.

इन सभी पीएसए ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता प्रति मिनट 500 लीटर की है अर्थात् इनसे 24 घंटे में 7,20,000 लीटर ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी, जो 102 डी टाईप जम्बो सिलेंडर के समतुल्य है. यह प्लांट पाइपलाइन के सहारे 100 बेडों पर ऑक्सीजन आउटलेट से जुड़ सकते हैं जिसके द्वारा अस्पताल के वार्ड में भर्ती मरीजों तक ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति की जाएगी. इसका कोविड के रोगियों के साथ-साथ अन्य रोगियों के उपचार में उपयोग में लाया जाएगा. इस प्रणाली से रोगियों के उपचार के लिए बार-बार सिलेंडर भरने की जरूरत नहीं होगी और इससे अस्पताल में ऑक्सीजन की सुचारू और निरंतर आपूर्ति सुनिष्चित होगी. इससे बड़ी संख्या में रेलकर्मी, उनके आश्रित व अन्य लाभान्वित होंगे.