शादी में शामिल 79 लोग कोरोना संक्रमित, दूल्हे की हुई थी मौ’त

पालीगंज/पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पालीगंज में एक शादी समारोह के बाद हुए कोरोना वायरस के अटैक ने पूरे इलाके को हिला कर रख दिया है. एक तरफ जहां शादी के दो दिनों बाद दूल्हे की मौत हो गई वहीं शादी में सम्मिलित 72 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं.

दरअसल यह हादसा कोरोना महामारी के समय में शादी की जल्दीबाजी का एक उदाहरण है. 15 जून को सम्पन्न हुए इस शादी के दो दिनों बाद दूल्हे की मौत हो गई. उसके बाद इस शादी में शरीक हुए लोगों में कोविड-19 संक्रमण पाया जाने लगा. सोमवार 29 जून को एक साथ 72 कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद पूरे इलाके में तहलका मच गया है. ये सभी संक्रमित लोग उस शादी में शामिल हुए थे.

आधिकारिक खबरों के मुताबिक विगत 15 जून को पालीगंज के डीहपाली गांव निवासी अम्बिका चौधरी के बेटे की शादी हुई थी. निजी कंपनी में कार्यरत वह इंजीनियर युवक शादी के कुछ दिनों पहले अपनी कार से दिल्ली से आया था. बिहार में 15 जून से सभी क्वारेंटाइन सेंटर बंद हो जाने के कारण उस युवक के दिल्ली से आने के बाद उसे होम क्वारेंटाइन कर दिया गया था.

15 जून को उस युवक की शादी हुई तथा सुहागरात के अगले दिन 17 जून को उसके पेट में दर्द शुरू होने के बाद उसे स्थानीय निजी क्लीनिक में ऐडमिट कराया गया. हालत सुधरता नहीं देखकर उसे पटना रेफ़र कर दिया गया. उसे एम्स पटना भेजा गया जहां हॉस्पिटल के गेट पर पहुंचने पर उसकी मौत हो गई.

चूंकि युवक की मौत अस्पताल के अंदर नहीं हुई थी इसलिए इस मामले में कोई सरकारी जांच प्रक्रिया नहीं की गई, जो एक जांच का मामला है. चूंकि युवक दूल्हे का अंतिम संस्कार हो चुका है, उसकी मृत्यु का कारण पता करना अब संभव नहीं है.

वैसे गांव वाले दूल्हे की मौत का कारण कोरोना संक्रमण बता रहे हैं जिसकी पुष्टि नहीं हो पाई क्योंकि मृत युवक की कोरोना जांच भी नहीं कराई गई. इतना ही नहीं, उसके माता-पिता का भी सैम्पल भी सोमवार शाम तक जांच के लिए नहीं लिया गया था.

इधर दुल्हन, जिसका सुहागरात के दूसरे ही दिन सुहाग उजड़ गया, के पिता ने बताया कि शादी के समय दूल्हे का पेट खराब था और उसे लूजमोशन के कारण कमजोरी महसूस हो रही थी.

बहरहाल, युवक की इस तरह मौत होने के बाद प्रशासन हरकत में आया. प्रखंड विकास पदाधिकारी चिरंजीवी पांडेय के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उस शादी में शामिल मृत युवक के परिजनों सहित लगभग सभी 125 बरातियों का सैम्पल कोविड-19 की जांच के लिए भेज दिया. साथ ही, उन सभी इलाकों को भी सील कर दिया गया जहां से ये सैम्पल लिए गए थे. 22 जून को आए रिपोर्ट में उसमें से 15 लोग पॉजिटिव पाए गए थे.

साथ ही, दुल्हन पक्ष के भी लगभग 100 लोगों का सैम्पल लेकर कोविड-19 की जांच करवाई गई. संयोग से दुल्हन पक्ष के सभी लोगों का कोरोना टेस्ट नेगटिव आया. लेकिन दूल्हे पक्ष की ओर से बारात में शामिल सभी लोग कोरोना पाज़िटिव पाए गए.

इसके बाद, पिछले 4 दिनों में 369 लोगों की जांच कराई गई जिसमें से 79 लोग सोमवार को आए रिपोर्ट में संक्रमित पाए गए.

79 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्थानीय प्रशासन ने डीहपाली समेत नगरबाज़ार का मीठा कुंआ, खपुरा और बाबा बोरिंग रोड को कंटेन्मेंट ज़ोन में तब्दील कर दिया है.

Advertisements