सोशल मीडिया पर सज गई किसानों की मंडी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | वैश्विक महामारी एवं लॉकडाउन के कारण उपजी परिस्थितियों ने देशभर के किसानों को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से जोड़ दिया है. एमडी वेजफेड सह संयुक्त सचिव सहकारिता विभाग, आनंद शर्मा ने बताया है कि सहकारिता विभाग के अधीन बना वेजफेड राज्य के सभी प्रखंडों में प्राथमिक सब्जी उत्पादक सहकारी समिति (पीवीसीएस) का निर्माण करेगा जिससे की देश के किसी भी शहर में बैठा व्यापारी बिहार की सब्जी ऑनलाइन खरीद सकेगा.

इन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स की मदद से बिहार के किसान अपने उत्पादों को सीधे ग्राहकों तक पंहुचा सकते है. उनके लिए यह नया बाजार हो सकता है. उसके अंदर स्थानीय लोगों के लिए ‘अपनी मंडी’ भी होगी.

हालांकि पूरी योजना को ईनाम से जोड़ने में तो थोड़ा वक्त लगेगा लेकिन राज्य के अंदर खरीद-बिक्री की व्यवस्था जल्द ही होगी. राज्य के 37 प्रखंडों में पीवीसीएस के लिए वेजफेड ने जमीन की व्यवस्था कर ली है. इसमें पटना की समिति से जुड़े 25 और तिरहुत की समिति से जुड़े 12 प्रखंडों में जमीन की व्यवस्था हुई है. ज़मीन के निर्माण का टेंडर जल्द ही जारी होगा जिसकी जिम्मेवारी राज्य भवन निर्माण निगम की होगी. जमीन की खरीद सरकार नहीं करती है, इससे समितियों की लीज पर लेना होता है.

योजना के अनुसार दस हजार वर्गफीट में फैले इस परिसर में के अंदर सब्जियों की छंटनी, ग्रेडिंग और पैकेजिंग की व्यवस्था होगी. सब्जियां खराब नहीं हो इसके लिए वहां दस टन की क्षमता वाला मल्टी चैम्बर कोल्ड स्टोरेज भी होगा.

आसपास के लोगों को भी सस्ती और ताजी सब्जी परिसर के भीतर ही आठ दुकानों का एक अलग बाजार से मिलेगी.

बता दें, तय नियमों के आधार पर इस योजना के अंदर 534 प्रखंडों में यह प्लेटफार्म की व्यवस्था की जनि ही, जिसमे से 37 प्रखंडों के लिए जमीन मिल गई है.

Advertisements