Big NewsBreakingPatna

नीतीश ने संयोजक पद ठुकराया, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे बने INDIA ब्लॉक प्रमुख

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को INDIA ब्लॉक का अध्यक्ष नामित किया गया है. शनिवार दोपहर को इंडिया ब्लॉक नेताओं की एक वर्चुअल बैठक के बाद निर्णय की घोषणा की गई. इसके अलावा जेडीयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने INDIA ब्लॉक के संयोजक के पद को अस्वीकार कर दिया. बिहार के सीएम ने सुझाव दिया कि कांग्रेस पार्टी से किसी को इस पद की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

INDIA या ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव अलायंस’ (Indian National Developmental Inclusive Alliance) कांग्रेस सहित विपक्षी दलों का एक समूह है. ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ में भागीदारी, सीट-बंटवारे के एजेंडे और अन्य चिंताओं सहित गठबंधन से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने के लिए INDIA ब्लॉक के नेताओं ने शनिवार दोपहर को वर्चुअल बैठक की.

जहां बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठक में भाग नहीं लेने का फैसला किया, वहीं एनसीपी नेता शरद पवार वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मुंबई से इंडिया ब्लॉक नेताओं की बैठक में शामिल हुए. डीएमके नेता कनिमोझी करुणानिधि और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन चेन्नई से शामिल हुए.

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं ने सीट बंटवारे पर चर्चा के लिए शुक्रवार को मुलाकात की थी. मुकुल वासनिक के घर पर हुई बैठक को दोनों दलों के नेताओं ने ‘सकारात्मक कदम’ बताया था.

इससे पहले, कांग्रेस के महासचिव जयराम रमेश ने शुक्रवार को ट्विटर पर कहा, “भारतीय पार्टी के नेता कल, 13 जनवरी, 2024 को ज़ूम पर बैठक करेंगे. वे शुरू हो चुकी सीट-बंटवारे की बातचीत, भारत में भागीदारी जैसे विभिन्न मुद्दों की समीक्षा करेंगे.” परसों इम्फाल के पास थौबल से शुरू होने वाली जोड़ो न्याय यात्रा और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दे. बदलेगा भारत जीतेगा इंडिया!”

2024 के लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को केंद्र में लगातार तीसरी बार सत्ता हासिल करने से रोकने के लिए INDIA ब्लॉक पार्टियां एक साथ आ गई हैं.

2024 के लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही भारत के राजनीतिक माहौल में नाटकीय उथल-पुथल देखी जा रही है. चुनावी मुकाबला आसन्न है क्योंकि उभरता हुआ INDIA गठबंधन लंबे समय से चले आ रहे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से मुकाबला करने की तैयारी कर रहा है.

2019 के पिछले लोकसभा चुनाव में यूपीए को 91 सीटें, एनडीए को 353 सीटें और अन्य को 98 सीटें मिली थीं. लोकसभा के 542 सदस्यों को चुनने के लिए 11 अप्रैल से 19 मई के बीच हुए सात चरणों के मतदान में 900 मिलियन से अधिक पात्र मतदाताओं में से लगभग 67% ने मतदान किया था.