सरकार बैकफुट पर, पुलिसकर्मियों को जबरन रिटायर करने का आदेश वापस

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार सरकार ने पुलिस कर्मियों को जबरन रिटारमेंट के अपने आदेश को वापस ले लिया है. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार ने यह बैकफुट कदम बिहार पुलिस एसोसिएशन और बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के आंदोलन करने की धमकी के आलोक में लिया है.

आखिर क्या है ये मामला ?

गौरतलब है, बिहार पुलिस मुख्यालय की ओर से 23 अगस्त को सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक और रेल पुलिस अधीक्षक को एक आदेश जारी किया गया था. मुख्यालय ने इस आदेश के द्वारा सभी अधिकारियों को ऐसे पुलिसकर्मियों के कामकाज की, जिनकी उम्र 50 साल से ज्यादा हो चुकी है और जो शारीरिक रूप से फिट नहीं हैं, समीक्षा करने को कहा था.

सूत्रों के अनुसार, पुलिस मुख्यालय की ओर से भेजे गए इस पत्र में पुलिस अधीक्षक और रेल पुलिस अधीक्षक को सिपाही से लेकर डीएसपी रैंक के सभी पुलिसकर्मियों के काम की समीक्षा करने का आदेश दिया गया था. मीडिया सूत्रों के अनुसार, नीतीश सरकार शारीरिक रूप से 50 साल से ज्यादा उम्र के अनफिट और अपने कामकाज को लेकर चुस्त-दुरुस्त नहीं रहने वाले पुलिस कर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त करने का विचार कर रही है.

रिपोर्टस के मुताबिक, पुलिस विभाग को सभी जिलों से लिस्ट प्राप्त होने के बाद हर महीने की 9 तारीख को इस संबंध में समीक्षा बैठक होगी. वहीं, सरकार द्वारा पुलिस अधीक्षकों को इस तरह का आदेश जारी करने के बाद बिहार में पुलिस एसोसिएशन ने कड़ा विरोध किया था.

वहीं, बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने एक बयान में कहा था कि अगर इस आदेश को वापस नहीं लिया तो आने वाले दिनों में पूरे राज्य में पुलिसकर्मियों की तरफ से आंदोलन किया जाएगा.