नालंदा: ज़हरीली शराब पीने से एक ही मोहल्ले के 5 लोगों की एक साथ मौत

नालंदा (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा (Home district of CM Nitish Kumar, Nalanda) में जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत (Nalanda Hooch Tragedy) हो गई है. यह दावा मृतकों के परिजनों ने की है. 3 लोग घायल हैं जिनकी हालत नाजुक बताई गई है.

जानकारी के अनुसर, जहरीली शराब से मौत का यह मामला नालंदा जिले के सोहसराय थाना क्षेत्र की छोटी पहाड़ी और पहाड़ तल्ली मोहल्ला का बताया जा रहा है. परिजनों ने बताया कि शराब पीने के बाद सभी की तबीयत अचानक बिगड़ने लगी और मौत हो गई. सभी घायलों का इलाज एक निजी क्लीनिक में चल रहा है.

मृतकों की पहचान 55 वर्षीय भागो मिस्त्री, 55 वर्षीय मुन्ना मिस्त्री, 50 वर्षीय धर्मेंद्र और कालीचरण मिस्त्री के रूप में हुई है. स्थानीय लोगों ने आस-पास के इलाके में चुलाई शराब बनाने की बात बताई है.

घटना के बाद से इलाकों में हड़कंप मच गया है. ज़हरीली शराब पीने से हुई ये मौतें प्रशासन की कार्यशैली पर गंभीर सवाल खड़ा कर रहा है कि आखिर प्रशासन की सख़्ती के बावजूद लोग शराब कैसे बना रहे हैं और पी रहे हैं.

यह भी पढ़ें| शराबबंदी: बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार

एक ही मोहल्ले में एक साथ हुई इन मौतों के बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. घटना की सूचना के बाद प्रशासन के आलाधिकारी वहां पहुंच मामले की जांच में जुट गए हैं.

थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद के बाद सदर डीएसपी डॉ शिब्ली नोमानी ने मौके पर पहुंच कर परिजनों से जानकारी ली. नालंदा के जिलाधिकारी शशांक शुभंकर और एसपी अशोक मिश्रा भी छोटी पहाड़ी और पहाड़तल्ली मोहल्ला पहुंचे और परिजनों एवं स्थानीय लोगों से पूरे मामले की जानकारी ली.

एक तरफ जहां नीतीश सरकार शराबबंदी के लाख दावें करती हो लेकिन हक़ीक़त बिल्कुल अलग है. प्रशासन की सख़्ती के बावजूद प्रदेश के विभिन्न इलाकों में शराब की खेपें पकड़ी जाती है. शराब पीने के शौकीन लोग सड़कों पर शाम में भटकते नज़र आते हैं.

बताते चलें, कुछ दिनों पहले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि शराब संबधित मामलों में किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा. लेकिन एक बार फिर से मामले सामने आने के बाद कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो रहा है.