Breakingफीचर

नौ लोगों की हत्या करने वाला ‘आदमखोर’ बाघ को मार दी गई गोली

पटना / बगहा (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के वाल्मीकि टाइगर रिजर्व (Valmiki Tiger Reserve) में पिछले कुछ महीनों में नौ लोगों की जान लेने वाले क्रूर आदमखोर बाघ (man-eater tiger shot dead in VTR) को आखिरकार शनिवार दोपहर एसएसबी के एक जवान ने गोली मार दी.

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पश्चिमी चंपारण जिले के बगहा में नौ लोगों की जान लेने वाले आदमखोर बाघ को आज दोपहर में मार दिया गया है.

मुख्य वन्यजीव वार्डन प्रभात कुमार गुप्ता ने वीटीआर (VTR) के पास रामनगर ब्लॉक के बगही पंचायत के डुमरी गांव निवासी संजय महतो (36) के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति के शिकार होने के बाद बड़ी बिल्ली के लिए ‘शूट एट साइट’ आदेश जारी किया था. संजय महतो जंगल के पास की झाड़ियों में शौच करने गया था, तभी बाघ ने उसे मौत के घाट उतार दिया था.

“बाघ को मारने के आदेश प्रक्रिया के अनुसार जारी किए जाते हैं जब यह स्थापित हो जाता है कि बाघ मानव निवास में रहने का आदी है. पिछले 3 दिनों में टाइगर ने 4 लोगों को मार डाला था, ”डीएफपी ने शनिवार सुबह बताया था.

इसे भी पढ़ें| महंगाई की मार, ‘सुधा’ ने बढ़ाई दूध की कीमत

बाघी पंचायत के सिगड़ी गांव में गुरुवार की रात बाघ ने अपने घर में सो रही बगदी कुमारी नाम की 12 वर्षीय बच्ची की हत्या कर दी. इसी तरह बगहा के गोवर्धन थाना क्षेत्र के बलुआ गांव में वीटीआर में महिला और उसके सात साल के बेटे को भी बड़ी बिल्ली ने मार डाला. रिपोर्ट में कहा गया है कि सभी पीड़ितों की रिपोर्ट टाइगर रिजर्व के आसपास के गांवों से है.

पश्चिम चंपारण जिले के वन विभाग ने बाघ को शांत करने के लिए 400 सदस्यीय टीम का गठन किया था. आदमखोर बाघ को पकड़ने के लिए हैदराबाद के एक शार्पशूटर शफात अली को भी बिहार बुलाया गया था. अधिकारियों ने स्वीकार किया कि हमले क्षेत्र में विशाल मानव-पशु संघर्ष का परिणाम हैं.