लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर हुई कानूनी कार्यवाई

पटना (TBN रिपोर्ट) :- दुनियभर में कोरोना को हराने के लिए तमाम तरह की कोशिश की जा रही है. इसी क्रम में कोरोना को मात देने के लिए बचाव की दृष्टि से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देशभर में  21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर दी गयी है. प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों में लॉकडाउन का कड़ा पालन करते हुए सभी नागरिकों से अनावश्यक कारण से घर से बाहर न निकलने की अपील भी की है. लॉकडाउन का असर भारत के सभी राज्यों में देखने को मिल रहा है लोगों ने खुद को घरों में कैद कर लिया है. वहीँ इसके विपरीत कुछ लोगों को कानून का मज़ाक उड़ाने में मज़ा आता है. ऐसे लोगों से निपटने के लिए बिहार पुलिस प्रशासन ने सख्ती का रवैया अपनाते हुए लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की है.

बिहार पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाई करते हुए  45 एफआईआर दर्ज करने के साथ ही 53 लोगों को गिरफ्तार किया है. बिहार पुलिस ने कानून का पालन न करने वालों से 11 लाख से ज्यादा की राशि जुर्माने के तौर पर वसूली है. इसके साथ ही बिहार पुलिस के द्वारा रविवार को 416 वाहनों को भी जब्त किया गया है.

लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना से बचाव और मानव हित के लिए लोगों से घर में रहने की अपील की थी लेकिन कुछ लोगों ने लॉकडाउन का पालन नहीं किया जिसके बाद बिहार पुलिस हरकत में आ गयी. पुलिस के द्वारा लॉकडाउन के दौरान अब तक कुल 310 मामले दर्ज किए गये हैं जबकि 180 लोगों को लॉकडाउन तोड़ने के जुर्म में गिरफ्तार करने के साथ ही लगभग 5 हजार वाहनों को जब्त भी किया गया है. बिहार पुलिस ने अब तक जुर्माने के तौर पर लगभग  98 लाख  रुपये की राशि भी वसूल की है.