फिर हुई सीएम की सुरक्षा में चूक, नालंदा की सभा में युवक ने किया ब्ला’स्ट

नालंदा (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सुरक्षा में एक बार फिर से बड़ी चूक सामने आई है. इस बार यह नालंदा में हुआ जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान पटाखा से विस्फोट (blast during Chief Minister Nitish Kumar’s Jan Samwad program in Silao, Nalanda) किया गया.

यह भी पढ़ें| मुख्यमंत्री नीतीश की सुरक्षा में बड़ी चूक, युवक ने किया हमला

मिली जानकारी अनुसार मुख्यमंत्री से ठीक पांच मीटर की दूरी पर यह धमाका हुआ, जिसके बाद वहां लोग सकते में आ गए. हालांकि, तत्पर सुरक्षाकर्मियों द्वारा धमाका करने वाले युवक को गिरफ्तार कर थाने ले जाया गया.

पिछले कुछ दिनों से सीएम नीतीश कुमार लगातार राज्य के अलग-अलग जिलों का दौरा कर रहे हैं. इसी सिलसिले में वह मंगलवार को नालंदा में थे, जहां कथित बम विस्फोट की घटना हुई है. हालांकि नीतीश कुमार पूरी तरह से सुरक्षित हैं. बता दें कि 27 मार्च को पटना के बख्तियारपुर में नीतीश कुमार को घूंसा मारा गया था.

आरोपी इस्लामपुर का

मंगलवार को मुख्यमंत्री संवाद कार्यक्रम के दौरान सिलाव (Silao) में पटाखा फोड़ने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि गिरफ्तार युवक की पहचान शुभम आदित्य के रूप में हुई है. वह इस्लामपुर के सत्यारगंज गांव का रहने वाला है.

सीएम का ध्यान खींचने के लिए छोड़ा पटाखा !

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार शुभम आदित्य का कहना है कि वह राष्ट्रीयता से जुड़ा कार्यक्रम चला रहा है, लेकिन मुख्यमंत्री इस पर एक नहीं सुन रहे थे. इसलिए हमने उनका ध्यान खींचने के लिए पटाखे छोड़े हैं. गिरफ्तार शुभम आदित्य बीएससी का छात्र है.

मौके पर मौजूद एक आला अधिकारी ने अनौपचारिक बातचीत में बताया कि धमाका हुआ था और इसकी आवाज सुनकर यह विस्फोट की तरह लग रहा था, लेकिन पुलिसकर्मियों ने बताया है कि यह एक पटाखा था, जिसकी आवाज तेज थी.

पुलिस ने शुभम के पास से पटाखे, माचिस और चाबियां बरामद की हैं. फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है. लेकिन असली सवाल यह है कि मुख्यमंत्री की बैठक से पहले जब पूरे आसपास के इलाके की गहन जांच की गई तो एक व्यक्ति माचिस और विस्फोटक लेकर उस इलाके में कैसे घुस गया और सुरक्षाकर्मियों को इसकी भनक तक नहीं लगी.

बताते चलें, मुख्यमंत्री सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत डॉग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ता कार्यक्रम से पहले पूरे सभास्थल का निरीक्षण करते हैं, कार्यक्रम के अंत तक दोनों दस्तों की ड्यूटी कार्यक्रम स्थल पर है, तो यह व्यक्ति वहां विस्फोटक के साथ कैसे मौजूद हो सकता है?