भगवान बुद्ध की भारत की सबसे बड़ी झुकी हुई मूर्ति होगी बोधगया में

बोधगया (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बोधगया में भगवान बुद्ध की भारत की सबसे बड़ी झुकी हुई मूर्ति का निर्माण (India’s largest reclining statue of Lord Buddha in Bodh Gaya) किया जा रहा है. बुद्ध इंटरनेशनल वेलफेयर मिशन (Buddha International Welfare Mission) द्वारा निर्मित यह प्रतिमा 100 फीट लंबी और 30 फीट ऊंची होगी. मूर्ति में भगवान बुद्ध शयन मुद्रा में हैं.

बुद्ध की इस विशाल प्रतिमा का निर्माण वर्ष 2019 में शुरू हुआ था. इसे फाइबरग्लास से बनाया जा रहा है और कोलकाता के मूर्तिकारों द्वारा बनाया जा रहा है. न्यूज एजेंसी से बात करते हुए, बुद्ध इंटरनेशनल वेलफेयर मिशन के संस्थापक सचिव, भंते आर्यपाल भिक्षु (Bhante Aryapal Bhikshu, founder secretary of Buddha International Welfare Mission) ने कहा, “भगवान बुद्ध की मूर्ति महापरिनिर्वाण मुद्रा में है जिसका बौद्ध धर्म में बहुत महत्व है. महापरिनिर्वाण से पहले, भगवान बुद्ध ने इस मुद्रा में अपने शिष्यों को उपदेश दिया था”.

उन्होंने कहा कि बोधगया भगवान बुद्ध के ज्ञान का स्थान है, इसलिए यह मूर्ति यहां बनाई जा रही है. भगवान बुद्ध की इस मुद्रा की मूर्ति उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में है जहां उन्होंने अपने महापरिनिर्वाण को प्राप्त किया था.

यह भी पढ़ें| अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं ने संभाली पटना एयरपोर्ट की पूरी कमान

उन्होंने आगे बताया कि भगवान बुद्ध की विशाल प्रतिमा फरवरी 2023 से भक्तों के लिए खोल दी जाएगी. बताते चले, बोधगया बौद्ध धर्म का एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है और दुनिया भर से भक्तों द्वारा इसका दौरा किया जाता है.