भारतीय कानून मंत्री का ट्विटर हैंडल एक घंटे के लिए ब्लॉक

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| एक बड़ी खबर सामने आई है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) ने भारतीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का हैंडल शुक्रवार सुबह ब्लॉक कर दिया. हालांकि एक घंटे बाद इसे फिर से अनब्लॉक कर दिया गया.

कारण जानने के सवाल पर ट्विटर ने बताया कि रविशंकर प्रसाद ने अमेरिका के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट (Digital Millenium Copyright Act) का उल्लंघन किया था. फिर चेतावनी देने के बाद ट्विटर ने उनका हैन्डल फिर से अनब्लॉक कर दिया.

इस बात की जानकारी प्रसाद ने खुद पहले इस बात की जानकारी देशी माइक्रोब्लॉगिंग और सोशल नेटवर्किंग साइट कू (Koo) के जरिए और फिर ट्विटर के जरिए शेयर की. उन्होंने लिखा, “दोस्तो! आज बहुत ही अजीब घटना हुई. ट्विटर ने मेरे अकाउंट को एक घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया”.

उन्होंने ट्विटर की हरकत पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘ट्विटर के कार्यों से संकेत मिलता है कि वे स्वतंत्र भाषण के अग्रदूत नहीं हैं, जिसका वे दावा करते हैं, लेकिन केवल अपना एजेंडा चलाने में रुचि रखते हैं, इस धमकी के साथ कि यदि आप उनके द्वारा खींची गई रेखा को नहीं खींचते हैं, तो वे आपको अपने मंच से मनमाने ढंग से हटा देंगे’.

उन्होंने आगे लिखा, ‘चाहे कोई भी प्लेटफॉर्म हो, उन्हें नए आईटी नियमों का पूरी तरह से पालन करना होगा और उस पर कोई समझौता नहीं होगा.’

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से ट्विटर और भारत सरकार के बीच नए आईटी नियमों को लेकर कानूनी विवाद चल रहा है. इसी बीच आज आईटी सह कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के ट्विटर हैन्डल को ब्लॉक कर दिया गया था.

इस विवाद के कारण पिछले ही सप्ताह ट्विटर के प्रतिनिधियों को आईटी मिनिस्ट्री से जुड़ी संसदीय समिति के समक्ष पेश होना पड़ा था. इसमें समिति ने ट्विटर के प्रतिनिधियों से पूछा था कि वे भारत के कानून का पालन करते हैं?

इसके जवाब में ट्विटर के प्रतिनिधियों ने कहा था कि वे अपनी पॉलिसी का पालन करते हैं और वह भारत के कानून के अनुसार है. इसी बात को लेकर आईटी मिनिस्ट्री से जुड़ी इस संसदीय समिति ने कड़ी आपत्ति जताई थी. समिति ने कड़ी शब्दों में ट्विटर के प्रतिनिधियों से कहा था कि भारत में देश का कानून ही सबसे बड़ा है, आपकी पॉलिसी नहीं.

ट्विटर के आज कि हरकत से ट्विटर की मुश्किलें भारत में और बढ़ सकती हैं. वैसे पहले भी रविशंकर प्रसाद ने ट्विटर के नियमों को डबल स्टैंडर्ड कह दिया है. आज ट्विटर द्वारा उनके अकाउंट को ब्लॉक, फिर अनब्लॉक करने की घटना बाद भारत सरकार और ट्विटर के बीच टकराहट और भी बढ़ सकती है.