होम आइसोलेटेड कोरोना मरीजों के लिए नियंत्रण कक्ष की हुई शुरुआत

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | राजधानी पटना में मंगलवार को होम आइसोलेशन नियंत्रण कक्ष की शुरुआत की गई. रिबन काटकर इसका शुभारंभ पटना के डिविजनल कमिशनर संजय कुमार अग्रवाल एवं डीएम कुमार रवि ने की. इस नियंत्रण कक्ष का शुभारंभ पटना जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र पर की गई है.

शुभारंभ के इस अवसर पर डिविजनल कमिशनर ने कहा कि होम आइसोलेशन नियंत्रण कक्ष की स्थापना प्रशासन द्वारा मरीजों से सीधी बातचीत कर हालचाल पूछने एवं उन्हें आवश्यक चिकित्सीय सहयोग प्रदान करने के लिए की गई है. इस नियंत्रण कक्ष से कोरोना पाज़िटिव मरीजों से समन्वय बनाकर उनमें आत्मविश्वास पैदा करने, दवा खाने तथा आवश्यक एहतियाती उपाय बरतने के लिए जरूरी बातों को बताया जा रहा है.

इन खबरों को भी आप पढ़ सकते हैं –
सुशांत के पिता ने एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के खिलाफ किया FIR, लगाए ये आरोप
कुर्सी पर बैठने के बाद प्रत्यय अमृत ने पहले किया NMCH का दौरा
सोनू सूद बने मोतिहारी के इस परिवार का मसीहा

डिविजनल कमिशनर संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि यहां से होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पाज़िटिव मरीजों को अलर्ट और सावधान रहने से संबंधित जरूरी उपायों की जानकारी दी जाएगी.

मरीजों को होम आइसोलेशन के दौरान अलग कमरे में सुरक्षित रहने, बिना मतलब बाहर नहीं निकलने, उनके द्वारा प्रयोग की गई वस्तुओं का उपयोग किसी और के द्वारा नहीं करने, मास्क का प्रयोग करने, समय समय पर साबुन से बार बार हाथ धोने तथा 2 गज की सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखने की सलाह दी जा रही है.

इस मौके पर डिविजनल कमिशनर द्वारा होम आइसोलेशन के मरीजों के लिए बनाए गए फोन नंबर 0612-2508032 को प्रचारित करने का निर्देश दिया गया. इसके साथ वीडियो कॉलिंग को भी आसान बनाने को कहा गया ताकि कोरोना पाज़िटिव मरीजों से सीधे बात करने के बाद आवश्यक सहयोग प्रदान किया जा सके.

आयुक्त ने कांटेक्ट ट्रेसिंग एवं चिकित्सा नियंत्रण कक्ष (0612-2249964) को भी डीआरसीसी में संचालित करने तथा संक्रमित व्यक्ति के संपर्क वाले व्यक्तियों से लगातार संपर्क बनाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ करने एवं आवश्यक सहयोग प्रदान करने को कहा गया.

आयुक्त द्वारा होम आइसोलेशन नियंत्रण कक्ष में डॉक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया गया कि वे शांतपूर्वक कोरोना पॉजिटिव मरीजों से सीधा संपर्क बनाकर उन्हें आवश्यक परामर्श देकर उनका आत्मबल बढ़ाएं.

आयुक्त ने नियंत्रण कक्ष के वरीय पदाधिकारी सह अपर समाहर्ता अरुण झा एवं प्रभारी पदाधिकारी कुमारिल सत्यानंद को प्रतिदिन के कार्यों की निगरानी करने एवं पंजी मेन्टेन करने का निर्देश दिया. इस नियंत्रण कक्ष में तैनात टीम के पर्यवेक्षण के लिए वहां डॉक्टर्स एवं प्रबंधक नियुक्त किए गए हैं.

इस मौके पर आयुक्त ने कई कोरोना पाज़िटिव मरीजों से खुद फोन पर बात की तथा वीडियो कॉलिंग से दो मरीजों से बात की. आयुक्त से बात करने के बाद दोनों व्यक्तियों, जो पहले काफी चिंतित नजर आ रहे थे, के आत्मविश्वास में काफी वृद्धि देखी गई. उसी समय उन्हें प्रमंडलीय आयुक्त के सामने ही मेडिकल टीम के द्वारा मेडिकल सलाह भी दी गई.

इस अवसर पर प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल के साथ पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि,अपर समाहर्ता विशेष अरुण झा, सिविल सर्जन डॉ राजकिशोर चौधरी सहित कई अन्य अधिकारी मौजूद थे.