पटना में ISKCON के नए भव्य मंदिर का औपचारिक उद्घाटन 3 मई को

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राजधानी पटना में राज्य का सबसे बड़ा इस्कॉन मंदिर बनकर तैयार हो गया है. पटना के बुद्ध मार्ग में 100 करोड़ की लागत से बना भव्य इस्कॉन मंदिर (Grand ISKCON temple built at a cost of 100 crores in Patna) कई मायनों में अनूठा है. इस्कॉन मंदिर (ISKCON temple, Patna) का औपचारिक उद्घाटन 3 मई को होगा जिसमें कई गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे.

इस्कॉन मंदिर में उद्घाटन समारोह सहित पूरा कार्यक्रम पांच दिनों का होगा जिसमें कार्यक्रम 1 मई से शुरू होगा. पटना इस्कॉन मंदिर के अध्यक्ष श्री कृष्ण कृपादास ने बताया कि श्री राधा बांके बिहारी जी और वैदिक संस्कार केंद्र के नाम से इस मंदिर का उद्घाटन किया जाएगा.

जानिए क्या है इस्कॉन मंदिर की खासियत

पटना के इस्कॉन मंदिर की विशेषता इसकी संरचना है. इसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक द्वारकाधीश मंदिर की तर्ज पर 84 खंभों पर बनाया गया है. 84 स्तम्भों पर निर्माण करने का एक दार्शनिक कारण भी है. अध्यक्ष श्री कृष्ण कृपादास (President Shri Krishna Kripadas) ने बताया कि जिस प्रकार 84 योनियों का धर्म दर्शन है, उसी प्रकार 84 स्तम्भों की परिक्रमा करने से 84 योनियों के चक्र से मुक्ति मिल जाती है.

ताजमहल का निर्माण करने वाले कारीगरों के परिवार ने पूरे इस्कॉन मंदिर का निर्माण किया है. मंदिर में स्थापित संगमरमर विश्व प्रसिद्ध मरकना का है जिससे ताजमहल बनाया गया था. इस मंदिर में सभागार, गोविंदा रेस्टोरेंट (Govinda restaurant) और गेस्ट हाउस का निर्माण किया गया है. भगवान के सभागार के साथ तीन और सभागार हैं जहां हजारों लोग एक साथ इकट्ठा हो सकते हैं.

पीएम मोदी और सीएम नीतीश समेत कई लोगों को न्योता

भव्य इस्कॉन मंदिर के उद्घाटन समारोह में प्रतिष्ठित और गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया गया है. मुंबई इस्कॉन से आए महासचिव देवकी नंदन दास (ISKCON General Secretary Devaki Nandan Das) ने बताया कि 3 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi), मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) के साथ इस्कॉन, गुरु महाराज (ISKCON Guru Maharaj) और देश-विदेश के श्रद्धालु उद्घाटन समारोह में पटना पहुंचेंगे. इस भव्य इस्कॉन मंदिर के. इस मंदिर को आस्था के सबसे बड़े केंद्र के रूप में स्थापित करने की योजना है.