भारत में मिला पहला ओमिक्रोन संक्रमित व्यक्ति भारत छोड़ भागा

बेंगलुरू (TBN – The Bihar Now डेस्क)| भारत में गुरुवार को दो ओमिक्रॉन-पॉजिटिव व्यक्तियों की पुष्टि हुई. इसमें से 66 वर्षीय एक व्यक्ति ने, जो दक्षिण अफ्रीका ने जोहान्सबर्ग स्थित एक दवा कंपनी का प्रतिनिधि था, भारत में सरकार द्वारा उसके जीनोमिक अनुक्रमण (genomic sequencing) रिजल्ट की पुष्टि होने से पहले ही 27 नवंबर को अहले सुबह बेंगलुरू हवाई अड्डे से विमान द्वारा देश छोड़ दिया.

सूत्रों के अनुसार, वह व्यक्ति 20 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से एक कोविड-नकारात्मक रिपोर्ट (Covid-negative report) के साथ आया था. फिर भी बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Kempegowda International Airport, Bengaluru) पर उसका कोविड परीक्षण किया गया था. सूत्रों ने कहा, “इस समय ओमाइक्रोन को लेकर यहां आशंकाएं प्रबल नहीं हुई थीं.”

उस व्यक्ति ने वसंतनगर (Vasanthnagar) के एक स्टार होटल में चेक इन किया. इधर एयरपोर्ट पर किया गया उसका कोविड टेस्ट पोजिटिव निकला. इसके बाद, स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने उस होटल का दौरा किया और उस व्यक्ति से कहा कि वह खुद को कमरे में आइसोलेट (self-isolate in the room) कर ले क्योंकि वह स्पर्शोन्मुख (asymptomatic) पाया गया था.

उसके बाद 22 नवंबर को फिर से उसके नमूने एकत्र किए गए और जीनोमिक अनुक्रमण (genomic sequencing) के लिए भेजे गए. अगले दिन यानि 23 नवंबर को वह व्यक्ति आसपास के एक निजी लैब के कर्मचारियों को संपर्क किया और एक कोविड -19 नकारात्मक रिपोर्ट प्राप्त करने में कामयाब रहा.

यह भी पढ़ें| ओमिक्रोन खतरा: भारत में मिले 2 पाज़िटिव केस, पहले संक्रमित ने चुपके से छोड़ा देश

सूत्रों ने कहा कि उसने होटल अधिकारियों को कोरोना की नेगटिव रिपोर्ट दिखाई, चेक आउट कर लिया. उसके बाद उसने बेंगलुरु हवाई अड्डे के लिए एक टैक्सी ली और अहले सुबह की उड़ान पकड़कर दुबई भाग गया.

इधर स्थानीय अधिकारी, जो जीनोमिक अनुक्रमण के रिजल्ट की प्रतीक्षा कर रहे थे, को जब उस व्यक्ति के लापता होने की खबर मिली तो उन सबके सर चकरा गये. सूत्रों ने बताया कि आगे की पूछताछ में पुष्टि हुई कि वह व्यक्ति विदेश चला गया था.

कुछ अन्य सवाल पूछे जाने पर, बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका के अधिकारियों ने कहा कि वे इस समय मामले पर अधिक खुलासा नहीं कर सकते.