ब्रेकिंग: कोरोना वैक्सीन बना रही सीरम इंस्टीट्यूट के नए प्लांट में लगी आग, 5 की मौत

पुणे (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के टर्मिनल गेट 1 के अंदर एक इमारत में गुरुवार दोपहर को भीषण आग लग गई. बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका कोरोनावायरस वैक्सीन, कोविशील्ड का निर्माता है. आग लगने की वजह अभी साफ नहीं हो पाई है. मौके पर दमकल की गाड़ियां पहुंच गई है और आग बुझाने का काम जारी है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मंजरी (Manjari) प्लांट में लगी आग की लपटों को काबू में लाने के लिए 10 फायर टेंडर लगे थे. हालाँकि, नवीनतम रिपोर्टों से पता चलता है कि SII के टर्मिनल गेट 1 के अंदर SEZ3 भवन के चौथे और पांचवें तल पर आग जारी है.

पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल ने कहा कि आग लगने की खबर दोपहर 2.50 बजे मिली थी, जिसके बाद 10 फायर टेंडर और कम से कम दो टैंकरों को घटनास्थल पर भेजा गया है.

मुख्य अग्निशमन अधिकारी, पीएमसी, प्रशांत रणपिसे, ने कहा, “इमारत के अंदर चार लोग थे. हमने अब तक तीन व्यक्तियों को बचाया है, हालांकि धुआं काम में बाधा डाल रहा है. आग अब तक तीसरी, चौथी और पांचवीं मंजिल तक फैल चुकी है. हमने अब तक दस फायर टेंडर भेजे हैं.”

5 लोगों की मौत

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में SEZ-3 मंजिल इलाके की बिल्डिंग वेल्डिंग का काम हो रहा था. इसकी वजह से वहां आग लग गई. इस घटना में 5 लोगों की मृत्यु हुई है.

PM मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग लगने पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की वजह से हुई मौतों से बेहद दुखी हूँ. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उन लोगों के परिवारों के साथ हैं जिन्होंने अपनी जान गंवाई. मैं प्रार्थना करता हूं कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हों.”

वहीं राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भी आग लगने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ट्वीट किया है, “पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग की दुर्घटना में हुई मौतें दुर्भाग्यपूर्ण हैं. मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं.

आपने यह खबर पढ़ी क्याट्रेडमार्क अधिनियम के तहत 4 गिरफ्तार, रिलायंस ट्रेडमार्क का कर रहे थे गलत इस्तेमाल

इस बीच, समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया है कि कोविशिल्ड वैक्सीन, ‘मंजरी प्लांट’ में बनाई गई है. हालांकि, अन्य मीडिया रिपोर्टों का कहना है कि एसआईआई में एक निर्माणाधीन संयंत्र में कथित तौर पर विस्फोट हो गया, जिसका मतलब है कि कोरोनावायरस वैक्सीन के उत्पादन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

एसआईआई के कार्यकारी निदेशक डॉ सुरेश जाधव के अनुसार, आग उस जगह पर लगी थी जहां बीसीजी वैक्सीन संबंधी काम चल रहा था. जाधव ने कहा कि सुविधा जहां कोविशिल वैक्सीन का निर्माण और भंडारण किया जा रहा है, वह इस सुविधा से बहुत दूर है.

स्थानीय विधायक चेतन तुपे ने घटनास्थल पर पहुंचने के बाद कहा, “मैंने दमकल अधिकारियों के साथ जांच की और उन्होंने बताया कि अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. नवनिर्मित इमारत एम सेज -3 में आग लग गई. यह सीरम संस्थान द्वारा विकसित विशेष आर्थिक क्षेत्र का एक हिस्सा है. वहां कोई वैक्सीन उत्पादन नहीं हो रहा था.”

इधर, टाइम्स नाउ ने रिपोर्ट किया है कि इस विस्फोट में तीन लोगों को बचाया गया है. विस्फोट का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं है. आग के विजुअल्स में गोपालपट्टी के एसआईआई कॉम्प्लेक्स में इमारतों में से एक से धुएं के घने बादल निकलते दिखाए गए हैं.

इस संदर्भ में अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है.