सरकार ने किया निजी अस्पतालों में कोरोना इलाज का रेट फिक्स

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बिहार में कोरोना के इलाज के नाम पर प्राइवेट अस्पतालों में मरीज़ों को खूब लूटा जा रहा है. प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए फीस/रेट पर सरकार द्वारा काफी दिनों से कोई फैसला नहीं हो पा रहा था. अब जाकर स्वास्थ्य महकमे की नींद खुली है.

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों से ली जाने वाली शुल्क का निर्धारण कर दिया है. इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को आदेश जारी कर दिया है.

इस आदेश के अनुसार, स्वास्थ्य विभाग ने पूरे बिहार को तीन श्रेणियों में बांटा है. पहली श्रेणी में पटना को रखा गया है, जबकि दूसरी श्रेणी में मुजफ्फरपुर, भागलपुर, दरभंगा, गया और पूर्णिया को रखा गया है. वहीं तीसरी श्रेणी में बाकी के सभी जिलों को रखा गया है. इन श्रेणियों में अवस्थित निजी अस्पतालों में कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए अलग-अलग फीस/शुल्क निर्धारित की गई है.

पहली श्रेणी के शहरों में एक दिन के इलाज के लिए अस्पताल अधिकतम 18000 हजार रुपये ले सकेंगे. बहुत सीरियस मरीजों से अधिकतम 18 हजार रुपए लिया जा सकेगा.

दूसरी श्रेणी के शहरों में एक दिन के इलाज के लिए अधिकतम 14400 रुपए लिए जा सकेंगे.

वहीं, तीसरी श्रेणी के शहरों में एक दिन के इलाज के लिए अधिकतम 10,800 रुपए लिए जा सकेंगे.

इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से सर्कुलर जारी किया गया है. सभी जिलों के डीएम को सरकार के इस फैसले का पालन कराने का निर्देश दिया गया है.

बताते चलें कि गुरुवार को बिहार में कोरोना के 2,451 नए मामले सामने आए हैं. इसके बाद, राज्य में एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 30,063 पहुंच गई है.

Advertisements