कोरोना ने किया होली का रंग फीका

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- कोरोना वायरस के प्रकोप से चीन में सैंकड़ों लोग मौत के मुंह में चले गए. धीरे धीरे विश्व भर में इसने अपने पैर पसारना शुरू कर दिया. भारत में भी कोरोना वायरस को लेकर हाई अलर्ट कर दिया गया है. भारत के सभी राज्यों में कोरोना वायरस को लेकर एडवायजरी जारी कर दी गयी है. बिहार सरकार ने भी कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. ऐसे में मंगलवार को होली का त्यौहार है. लोगों में कोरोना वायरस का खौफ इस कदर फैल चुका है कि लोग होली के त्यौहार को मनाने से भी डर रहे हैं.

कोरोना वायरस का सीधा असर रंग-अबीर व पिचकारी के दुकानदारों पर पड़ रहा है. लोग चाइनीज पिचकारी को खरीदने से डर रहे हैं. यहाँ तक कि मेड इन चाइना सामान लेने से भी ग्राहक बच रहे हैं. लोगों में कोरोना को लेकर सर्तकता बरतने के निर्देश जारी होने के बाद लोग इस बार होली खेलने से भी बच रहे हैं. होली के त्यौहार के लिए रंग-अबीर और  पिचकारी के कारोबारी एक साल के लम्बे वक्त का इन्तजार करते हैं लेकिन इस बार भारत में कोरोना वायरस के चलते ग्राहकों की कमी से दुकानदारों में मायूसी छाई हुई है.

लोगों में कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से दिशा निर्देश जारी किये गए. जिसके अनुसार कोरोना वायरस के मरीजों में जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं. इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं. फेफड़े में गंभीर किस्म का संक्रमण हो जाता है. होली के त्यौहार में लोग रंग और पानी में भीगते हैं. कोरोना वायरस के लक्षण को देखते हुए लोग होली के त्यौहार में भीगने से बचने के लिए होली मनाने से भी कतरा से रहे है.

 

Advertisements