नियोजित शिक्षकों को इस दिन से मिलेगा EPF का लाभ, जारी हुए आदेश

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | नियोजित शिक्षकों से संबंधित एक खबर आ रही है कि उन्हें 1 सितम्बर 2020 से ईपीएफ का लाभ मिलेगा. इस संबंध में शनिवार को शिक्षा विभाग ने संकल्प जारी कर दिया है.

पिछले कई महीनों से शिक्षकों के गुस्से का सामना कर रही नीतीश सरकार अब विधानसभा चुनाव से पहले शिक्षकों को काफी तोहफे दे रही है. अभी हाल में ही 15 अगस्त को सरकार ने शिक्षकों की सेवा शर्त को लेकर घोषणा की थी. हालांकि इस घोषणा से शिक्षक खुश नहीं थे और अपनी मांगों के साथ शिक्षकों ने सरकार का विरोध भी किया था.

इसी बीच आज शनिवार को नियोजित शिक्षकों को 1 सितम्बर 2020 से ईपीएफ का लाभ मिलने संबंधी संकल्प जारी कर दिया गया है. इस सम्बन्ध में नीतीश सरकार ने पहले एक बैठक की थी जिसमें 1 सितम्बर 2020 से ईपीएफ का लाभ दिए जाने की बात पर स्वीकृति दे दी गई थी.

शिक्षा विभाग ने अपने संकल्प-पत्र में लिखा है कि पंचायती राज संस्थानों एवं नगर निकाय के तहत कार्यरत शिक्षकों एवं पुस्तकालय अध्यक्षों के वर्णमान वेतन में 1 अप्रैल 2021 से देय मूल वेतन में 15% की वृद्धि की स्वीकृति दी गई है. सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण के मद्देनज राज्य सरकार ने शीषक एवं पुस्तकालय अध्यक्षों को ईपीएफ स्कीम देने का निर्णय लिया है. प्राथमिक विद्यालय से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालय तक कार्यरत शिक्षक पुस्तकालय अध्यक्ष के मासिक वेतन पर राज्य सरकार अपना अंशदान 13% देगी. यह 1 सितंबर 2020 से प्रभावी होगा.

बताते चले, पंचायती राज संस्थानों एवं नगर निकाय सस्थानों के तहत कार्यरत शिक्षकों के वर्णमान वेतन संरचना में सुधर के उद्देश्य से 1 अप्रैल 2021 को देय मूल वेतन में 15% की वृद्धि का निर्णय लिया गया है. बढ़े हुए वेतन के निर्धारण हेतु वित्त विभाग से परामर्श के बाद अलग से दिशा निर्देश जारी किये जायेंगे. इस तरह से ईपीएफ और बढ़े वेतन मिला करे 20 फीसदी की वृद्धि होगी.