कोरोना टीकाकरण: 15 फरवरी के बाद आम लोग भी करा सकेंगे निबंधन

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| कोरोना वायरस से बचाव हेतु पूरे देश में टीकाकरण अभियान चल रहा है. 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जा रहा है. 15 फरवरी के बाद टीकाकरण के दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाने की प्रक्रिया शुरू होने की संभावना है.

टीकाकरण के दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को सबसे पहले वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा. स्वास्थ्य कर्मियों के बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण की शुरुआत होगी. इसके बाद आम आदमी भी अपना निबंधन संबंधित ऐप पर करा सकेंगे.

आम लोगों को फोटोयुक्त पहचान पत्र से कोविड-19 के टीका के लिए निबंधन कराना होगा. जिसके पास एंड्रॉयड मोबाइल नहीं होगा उनके निबंधन के लिए अलग से केंद्र बनाए जाएंगे जहां पहचान पत्र देकर मुफ्त में निबंधन किया जाएगा.

मार्च से आम लोगों के लिए भी टीकाकरण

टीकाकरण के इस चरण की शुरुआत 15 फरवरी के बाद होने की संभावना है. इस चरण में 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और हाई रिस्क जोन वाले लोगों को इसमें शामिल किया जाएगा. संभवतः मार्च से रेजिस्ट्रेशन के बाद आम लोगों के लिए भी कोविड-19 टीकाकरण की शुरु हो जाएगी.

ये भी पढ़ेंनियोजित शिक्षक: यह काम कर बचा लीजिए अपनी नौकरी

इस संबंध में प्रशासन से लेकर अस्पतालों तक में तैयारी शुरू कर दी गई है. अभी पटना में 17 केंद्रों पर स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जा रहा है. इसके अलावा पटना के चार प्राइवेट अस्पतालों – राजेश्वर हॉस्पीटल, मेंदाता हॉस्पिटल, साई हॉस्पिटल और शांति हॉस्पीटल, में भी टीकाकरण का काम हो रहा है. आनेवाले शनिवार से इसकी संख्या बढ़ाकर 37 की जानी है. साथ ही वैक्सीन के डोज की संख्या में भी लगातार की जाएगी.

वैक्सीनेशन की रफ्तार अभी काफी धीमी

इधर राजधानी पटना में वैक्सीनेशन की रफ्तार अभी काफी धीमी है. अभी राज्य में लोगों के बीच कोविड-19 टीकाकरण को लेकर लोगों में उत्साह में धीरे धीरे कमी आ रही है. संबंधित अधिकारियों का कहना है कि टीका लेने के लिए लोगों पर किसी प्रकार की बाध्यता नहीं है. लोग स्वेच्छा से टीकाकरण के लिए अपना निबंधन कराने की छूट है.

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, वैक्सीनेशन की रफ्तार काफी धीमी है. वैसे पटना में तो थोड़ी वृद्धि भी हुई है लेकिन पूरे राज्य में यह गिर रहा है. राज्य भर में 16 जनवरी को जहां 61% निबंधित लोगों का टीकाकरण हुआ, वहीं 23 जनवरी को मात्र 51.6% निबंधित लोगों ने अपना टीकाकरण करवाया. वहीं पटना में 16 जनवरी को जहां 61.1% लोगों ने टीका लिया था, वहीं 23 जनवरी को यह 66% हो गया.