तबलीगी जमात में कोरोना का संक्रमण बढ़ा

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :-भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा लॉकडाउन घोषित किया गया है. प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन के दौरान देश के नागरिकों से सोशल डिस्टेंसिंग की अपील भी की थी. लेकिन इसके बावजूद भी लोग सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ उड़ाने से बाज नहीं आये. राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन कानून को नजरअंदाज करते हुए, दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का सेंटर होने के चलते पूरी दुनिया से बड़ी संख्या में लोग एकत्रित होते हैं. अब दिल्ली में तबलीगी जमात से जुड़े हुए लोगों में लगातार कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने से सरकार के लिए सबसे बड़ी चिंता का कारण बन गया है. राजधानी दिल्ली की ही तरह बिहार में भी तबलीगी जमात के लोगों से कोरोना संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. 

 बिहार सरकार कोरोना को रोकने के लिए लगातार प्रयास करते हुए स्वास्थ्य विभाग और जिलाप्रशासन के सहयोग से अभियान चला रही है और अभियान के दौरान विदेश से बिहार आये लोगों को तलाश कर उनकी कोरोना की जांच की जा रही है. जिससे बिहार में जांच के दौरान कोरोना वायरस संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. लेकिन अब बिहार के लिए तबलीगी जमात के लोग सबसे बड़ा खतरा साबित हो रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग के द्वारा तबलीगी जमात के 86 लोगों का डाटा अपने सिविल सर्जनों को जारी किया है. स्वास्थ्य विभाग ने निर्देश दिया है कि इन सभी तबलीगी जमात के लोगों का कोरोना टेस्ट कराने के साथ ही इन सभी को क्वॉरेंटाइन में रखा जाये. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने सभी तब्लीगीयों की लिस्ट जारी करते हुए  सभी के नाम उनके मोबाइल नंबर के साथ सिविल सर्जनों को भेजा है. लेकिन एक अनुमान के अनुसार बिहार में इनकी संख्या तकरीबन डेढ़ सौ से अधिक का आंकड़ा पार कर सकती है. 

बता दें जमात में अलग-अलग समूहों में विभिन्न शहरों और कस्बों से इस्लाम के प्रचार-प्रसार के लिए भेजा जाता है. तबलीगी जमात के लोगों को विभिन्न इलाकों की लिस्ट दी जाती है जिसमें मस्जिदों का ब्योरा होता है. जिसके बाद तबलीगी जमाती मस्जिदों में ठहरते हैं. कोरोना वायरस के खतरों के बीच इन तबलीगी जमाती लोगों के एक शहर से दूसरे शहर में जाने से कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. जिससे यह बिहार राज्य के साथ भारत सरकार के लिए भी चिंता का विषय बनता जा रहा है.

Advertisements