कोरोना: पटना एम्स से आई अच्छी खबर

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पूरा विश्व कोरोना महामारी को हराने के लिए तैयारी कर रहा है. इसी बीच कुछ दिनों पहले रूस ने कोरोना की पहली वैक्सीन तैयार करने का दवा भी किया है.

इधर भारत में भी कोरोना के वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल चल रहा है. देशभर में सबसे पहले पटना एम्स में 15 जुलाई को वैक्सीन ट्रायल शुरू हुआ था, जिसके बाद पटना के एस्स में कोरोना वैक्सीन के ट्रायल का एक महीना पूरा हो गया है. पहले चरण के ट्रायल के एक महीना पूरा होने के बाद जिन लोगों को यह टीका दिया गया था वो बिल्कुल स्वस्थ्य हैं.

जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमण से निजात पाने के लिए देशभर के अस्पतालों समेत पटना एम्स में कई लोगों पर ट्रायल चल रहा है. पहले चरण में जिन लोगों को कोरोना का वैक्सीन दिया गया है उनका स्वास्थ्य सामान्य है. इसके साथ ही उनपर कोई साइड इफेक्ट भी नहीं देखा गया है. पटना एम्स में पहले डोज के बाद एंटीबॉडी जांच के लिए आईसीएमआर भेजा गया है.

पहले चरण के ट्रायल के बाद यह देखा जाएगा कि जिन लोगों को टीका दिया गया है, क्या उनमें कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी बन रही है. इसके साथ यह भी देखा जाएगा कि अगर एंटीबॉडी बनी है तो क्या वो मेंंटेन है? उसके बाद जो भी रिपोर्ट तैयार होगी, उसके आधार पर दूसरे चरण की शुरूआत होगी.

सूत्रों की माने तो इस साल के अंत तक या अगले साल तक कोरोना से लड़ने के लिए वैक्सीन मिलने की पूरी उम्मीद है.

Advertisements