कोरोना: शुक्रवार को 158 नए संक्रमितों की पुष्टि, मार्च से पहले ही संक्रमण होगा पीक पर

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार में कोरोना मामलों में आए जबर्दस्‍त उछाल ने चिंता बढ़ा दी है. बिहार सरकार ने यह मान लिया है कि राज्य में कोरोना की तीसरी लहर (Third wave of Corona started in Bihar) शुरू हो गई है. राज्य में जिस रफ्तार से कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, उससे लगता है कि इस बार मार्च से पहले ही संक्रमण पीक पर होगा.

राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 158 नए मामले सामने आए हैं जो एक दिन पहले आए केसों से करीब 20% अधिक हैं. राज्य में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्‍या इस समय 488 पहुंच गई है. इस रफ्तार से एक दिन में 15 जनवरी तक ही संक्रमण का नया मामला तीन हजार के पार होने का अंदेशा है.

गुरुवार को मिला था ओमिक्रोन का पहला संक्रमित

आपको बता दें, गुरुवार को बिहार में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन (Omicron, New Variant of Corona Virus) का पहला मामला सामने आया है. इस मामले की पुष्टि राजधानी पटना में हुई है. संक्रमित मरीज 26 वर्ष का एक युवक है और वह अपने भाई, जो विदेश से आया था, से संक्रमित हो गया है.

शुक्रवार को जारी किए गए सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कुल 1,74,739 सैम्पल की जांच हुई. इसमें 158 संक्रमितों की पुष्टि हुई जबकि 7 मरीज रिकवर हुए. बिहार में कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 98.27 है. अब राज्य में ऐक्टिव मरीजों की संख्या 488 पहुंच गई है.

सबसे ज्यादा संक्रमण राजधानी में

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, राजधानी पटना में शुक्रवार को सबसे ज्यादा 105 नए संक्रमितों की पुष्टि हुई है. अररिया में 1, बेगूसराय में 1 भागलपुर में 1, बक्सर में 2, दरभंगा में 1, जमुई में 6, गया में 5, किशनगंज में 1, लखीसराय में 1, मधेपुरा में 1, मधुबनी में 1, मुंगेर में 9, नालंदा में 3, रोहतास में 5, सहरसा में 1, सारण में 2, सुपौल में 1, वैशाली में 1 नए मरीजों की पुष्टि हुई है. वहीं 4 ऐसे लोग संक्रमित पाए गए हैं जो राज्य के बाहर से आए हैं.

अभी तक लगे 10 करोड़ टीके

शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग, बिहार ने बताया कि राज्य में अभी तक 10 करोड़ टीके लगा दिए गए हैं जो एक नया कीर्तिमान है.

स्वास्थ्य विभाग का अलर्ट

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग सजग है. विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ रहे है, इससे खतरा बढ़ रहा है.

तैयारी है पूरी

अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर से सबक लेते हुए तीसरी लहर से निपटने के लिए इस बार तैयारियां पूरी हैं. आज राज्य में ऑक्सीजन कासेन्ट्रेटर की संख्या 16183 (दूसरी लहर मे यह 6183 थी), बी टाइप सिलिन्डर 38259 (दूसरी लहर में 13000), डी टाइप सिलिन्डर 14616 (दूसरी लहर में 6668) और रिफिलिंग यूनिट 111 (दूसरी लहर में 54) है. आज राज्य में कोविड के 3574 डेडिकेटेड हॉस्पिटल जबकि 8500 डेडिकेटेड कोविड हेल्थकेयर सेंटर बने जा चुके हैं.

स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपील है कि भीड़-भाड़ से बचें और मास्क लगाएं. बिहार में डेल्टा व डेल्टा प्लस के ज्यादा मरीज हैं. केस लगातार बढ़ रहा है. इस बीच ओमिक्रॉन का भी मामला आ गया है. नए केस बढ़ रहे हैं, जिससे सभी जिलों में कंट्रोल रूम को एक्टिव कर दिया गया है.

ओमिक्रोन जांच जल्द ही बिहार में

ओमिक्रोन का पहला मामला बिहार में सामने आते ही सरकार इसकी जांच के लिए बिहार में ही तैयारी सगुरु की जा रही है. अभी सैम्पल को दिल्ली भेज कर ओमिक्रोन की जांच करवाई जा रही है.

शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि ओमिक्रोन की जांच के लिए राजधानी पटना के IGIMS में जीनोम सिक्वेंसिंग को लेकर तैयारी की जा रही है. बहुत जल्द ही यहां जांच की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी.