कोरोना में बेतहासा वृद्धि, राजधानी पटना में 70 बच्चे भी शामिल

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शनिवार को पटना जिले में एक बार फिर से कोरोना के 2337 पॉजिटिव (New patients of Corona in Bihar) मामले सामने आए हैं. इसमें 61 फॉलोअप के केस हैं और 343 मामले दूसरे जिले के हैं. इन मरीजों के सैंपल दूसरे जिलों से पटना भेजा गया था.

17 वर्ष से कम के बच्चे भी संक्रमित

खास बात ये है कि इसमें बड़ी संख्या में 17 साल से कम उम्र के बच्चे भी संक्रमित पाए गए हैं. यानी सिर्फ पटना से शनिवार को 1933 कोविड संक्रमित मरीज मिले हैं. जिसमें 17 साल से नीचे के 70 बच्चे शामिल हैं.

जिस प्रकार से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है वह चिंताजनक हैं. राज्य में आज कुल 4526 नए कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. इनमें से सबसे ज्यादा राजधानी पटना में 1956 नए मरीजों की पहचान हुई है.

जिलावार नए मरीजों की संख्या

बिहार में एक्टिव मरीजों की संख्या 12311 हो गयी है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गये कोरोना के आंकड़ों पर यदि गौर करें तो गोपालगंज में 13, जमुई 67, जहानाबाद 61, कैमूर 16, कटिहार 53, खगड़िया 14, अररिया में 23, अरवल में 45, औरंगाबाद में 46, किशनगंज 51, लखीसराय 27, मधेपुरा 37, नालंदा 212, नवादा 22, पटना 1956, पूर्णिया 45, रोहतास 61, सहरसा 37, मधुबनी 58, मुंगेर 26, मुजफ्फरपुर 263, बांका 44, बेगूसराय 276,भागलपुर 53, भोजपुर 77, बक्सर 30, दरभंगा 73, पूर्वी चंपारण 88, गया 284, सीतामढ़ी 90, सीवान 18, सुपौल 32, वैशाली 60, समस्तीपुर 61, सारण 110, शेखपुरा 5, शिवहर 15, पश्चिम चंपारण 32 नए संक्रमित मिले हैं. इसके अलावे दूसरे राज्य के 47 लोगों के सैंपल भी पॉजिटिव पाये गये हैं.

राज्य में कोरोना एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 12311 हो गई है और रिकवरी भी घटकर 96.70 प्रतिशत रह गया है. वैसे पिछले 24 घंटों में 724 मरीज ठीक भी हुए हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा

इधर शनिवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने जानकारी दी कि स्वास्थ्य विभाग, बिहार द्वारा कोरोना संक्रमण की प्रभावी रोकथाम तथा बचाव के लिए आवश्यक सामाग्रियों, सेवाओं तथा मानवबल की अधिप्राप्ति के लिए जिला एवं मेडिकल कॉलेज स्तर पर समिति को प्राधिकृत किया गया है. उनके अनुसार, जिला स्तर पर इसके नामित पदाधिकारी सिविल सर्जन, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी और जिला पदाधिकारी द्वारा नामित एक पदाधिकारी होंगे. वहीं मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल स्तर पर प्रचार्य, अधीक्षक एवं मेडिसीन विभाग के अध्यक्ष शामिल रहेंगे.

मेडिकल किट डाक से भेजी जा रही है

मंत्री ने जानकारी दी कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के लिए स्वास्थ्य विभाग, बिहार द्वारा सभी मरीजों के लिए पांच प्रकार की आवश्यक दवाई और उपयोगी सुझाव की ऐसी मेडिकल किट तैयार कर डाक विभाग के माध्यम से बिहार के लोगों को भेजी जा रहीं है.