कोबरा ने बच्चे को काटा, फिर खुद मर गया !

गोपालगंज (TBN – The Bihar Now डेस्क)| गोपालगंज (Gopalganj) में 4 साल के बच्चे को डंक मारकर कोबरा सांप दुनिया (cobra snake died after stinging a four-year-old child in Gopalganj) से चला गया. सोशल मीडिया पर इस खबर की काफी चर्चा हो रही है. यह सुनकर लोग भी हैरान हैं कि ऐसा कैसे संभव हुआ.

कोबरा सांप ने आज तक जो भी काट लिया है, शायद ही कोई बचा हो. अगर परिवार बच्चे में दैवीय शक्ति पर विश्वास कर रहा है, तो यह विज्ञान के लिए एक अनसुलझा प्रश्न है. यद्यपि, ब्लड सैंपल लेकर बच्चे की जांच की जा रही है, जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है.

सदर अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. सनौल मुस्तफा बताते हैं कि जिस कोबरा सांप ने बच्चे को काटा था, वह बेहद खतरनाक और जहरीला था. अगर कोबरा सांप किसी को काट ले तो मरीज का बिना इलाज के जिंदा रहना मुश्किल हो जाता है. सिर्फ ‘एंटी स्नैक वेनम’ ही एक ऐसा इंजेक्शन है, जो किसी जहरीले सांप के जहर को मारने की क्षमता रखता है. यह इंजेक्शन सदर अस्पताल समेत सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध है.

चिकित्सा अधिकारी डॉ. सनौल मुस्तफा ने बताया कि बच्चे को सांप ने डस लिया तो परिजन तत्काल इलाज के लिए सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में पहुंचे, जहां इलाज शुरू कर बच्चे की जान बचा ली गयी. इसमें कोई दैवीय शक्ति नहीं है.

वहीं जूलॉजी के प्रोफेसरों का मानना ​​है कि ऐसा मामला करोड़ों में देखने को मिलता है. कोबरा सांप किसी को काटता है और वह खुद मर जाता है.

जयप्रकाश विश्वविद्यालय (Jaiprakash University) के सेवानिवृत्त प्रोफेसर सीपी सिंह का मानना ​​है कि बच्चे को काटने के बाद कोबरा सांप की मौत कैसे हुई यह सुनकर भी हैरानी होती है. उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने जीवन में पहली बार ऐसा मामला सुना है.

क्या है पूरा मामला

बताया जा रहा है कि गोपालगंज जिले के बरौली थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव निवासी रोहित कुमार का चार वर्षीय पुत्र अनुज कुमार कुचायकोट थाना क्षेत्र के ससामुसा खजूरी टोला स्थित अपने मामा के घर आया था. बुधवार की शाम अनुज मामा के घर के दरवाजे के सामने अन्य बच्चों के साथ खेल रहा था. खेलते समय खेत के किनारे से आए कोबरा सांप ने बच्चे के पैर में काट लिया. इसके 3 से 4 मिनट के बाद सांप की खुद ही मौत हो गई.

यह भी पढ़ें| जातीय जनगणना के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर

बच्चे को सांप काटने की बात सुनकर जब उसके परिजन लाठी-डंडा लेकर सांप को मारने के लिए दौड़े, तब तक सांप मर चुका था. इसके बाद लोगों ने बच्चा और सांप दोनों को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे. हालांकि इस घटना के बाद लोग सांप और बच्चे की तस्वीर को सोशल मीडिया पर खूब वायरल कर रहे हैं. कुछ लोग दैवीय शक्ति बता रहे हैं तो कुछ लोग विज्ञान का चमत्कार बता रहे हैं.