स्कूल के ध्वस्त स्थल पर बने सड़क पर हुआ शिक्षण कार्य, सिक्सलेन रहा जाम

कोईलवर / भोजपुर (TBN – आमोद कुमार की रिपोर्ट)| विकास के नाम पर विनाश का साक्षात दर्शन कराते कोईलवर के तारामणी भगवान साव उच्चतर विद्यालय के लिये संघर्ष का बीड़ा उठाए अगिआंव विधायक कॉमरेड मनोज मंज़िल के नेतृत्व में ध्वस्त स्थल पर बने सड़क पर ही विद्यालय लगाया गया.

बुधवार को वहां विधिवत प्रार्थना के बाद वर्ग संचालन हुआ और शिक्षकों द्वारा शिक्षण कार्य किया गया. सभी अभिभावक और छात्रों के साथ क्षेत्र की जनता ने यह निर्णय लेकर प्रशासन को एक बार फिर अकर्मण्यता का बोध कराया.

इस अवसर पर विधायक मनोज मंज़िल ने कहा कि पिछले बीस दिनों से वह प्रशासन को लगातार आगाह करते रहे हैं कि वहां तुरंत पढाई की व्यवस्था की जाए. उन्होने यह भी कहा कि बच्चों की पढाई बर्बाद करके प्रशासन ने अभिभावकों और छात्रों का चैन छीन लिया है. अब उनको बारी है और वे प्रशासन और सरकार का चैन छीन लेंगे.

इसके बाद उनके नेतृत्व में सड़क पर ही वर्ग संचालन हुआ. इस विषय पर प्रशासन की चुप्पी और विद्यालय के प्रति उदासीनता सबको आश्चर्य में डाल रही है. ग्रामीण जनता ने इस संघर्ष को सीधे अपने हाथ में ले लिया है.

जनता का कहना है कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों, विधायक और सांसद द्वारा कोई रूची नहीं ली जा रही है. 1600 छात्रों के भविष्य को अंधकारमय बना दिया गया है. वर्तमान सरकार शिक्षा व्यवस्था को पंगु बनाकर गरीबों और वंचित ग्रामीण जनता के बच्चों को शिक्षा से वंचित रखना चाहती है.

Also Read| त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: आज से पहले चरण की प्रक्रिया शुरू

स्थानीय जनता के अनुसार, सरकार और जनप्रतिनिधियों की अकर्मण्यता को लेकर जनता में रोष और आक्रोश का वातावरण है. सरकार की इतने दिनों की छवि धूमिल हो रही है. प्रशासन व सरकार की इस लापरवाही से आंदोलन की व्यापकता बढती जा रही है.

जनता के अनुसार इस विद्यालय के भवन निर्माण की तत्काल आवश्यकता है. जनता ने मांग की है कि प्रशासन इसे प्राथमिकता के आधार पर पूरा करे. सड़क पर स्कूल आंदोलन के दौरान जिला प्रशासन से लेकर जिले भर के कई पुलिस पदाधिकारी सहित पुलिस बल तैनात रही.