कोसी नदी की धारा को पुरानी धारा की तरफ ले जाना जरूरी – मुख्यमंत्री

भागलपुर (TBN – The Bihar Now डेस्क)| मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज भागलपुर जिले के नवगछिया अनुमंडल अन्तर्गत बिहपुर अंचल के गुवारीडीह में पुरातात्विक स्थल का परिभ्रमण किया. मुख्यमंत्री ने परिभ्रमण के दौरान गुवारीडीह ग्राम से प्राप्त पुरातात्विक अवशेषों का बारीकी से मुआयना किया.

अवशेषों का मुआयना करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि विधायक शैलेन्द्र जी ने मुझे सूचना दी थी कि यहां पौराणिक चीजें मिली हैं जिनके ऐतिहासिक प्रमाण हैं. एक्सपर्ट की टीम ने भी अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है कि यह ऐतिहासिक स्थल है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि हमने तय किया था कि हम खुद इसे देखने आएंगे. मुझे यहां आकर लगा कि वास्तव में यह एक पौराणिक और ऐतिहासिक जगह है. यहां से मिले अवशेष 2500 वर्ष से पहले के भी हो सकते हैं. इसके बारे में सबको जानकारी होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि कोसी नदी की धारा को डायवर्ट किया जायेगा ताकि यह पूरा इलाका सुरक्षित रह सके. खुदाई के पश्चात यहां और कई पौराणिक चीजों के होने की जानकारी मिल सकती है. इस जगह की खुदाई करके एक्सपर्ट देखेंगे कि कहां-कहां से पौराणिक चीजें मिल रही हैं. इससे यह भी पता चलेगा कि इसका क्षेत्र कहां तक फैला हुआ है.

आप इसे भी पढ़ें पटना नगर निगम ने 400 बेघर लोगों के लिए बनाये रैन बसेरा

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां से मिले अवशेषों का अध्ययन करने के बाद इस इलाके को ऐतिहासिक स्थल के रुप में विकसित किया जायेगा. इस ऐतिहासिक स्थल को विकसित करने से लोग अपने पुराने इतिहास को जान सकेंगे. यहां की पूरी जानकारी मिलने के बाद राज्य ही नहीं देश दुनिया को भी इससे अवगत कराया जायेगा.

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोसी के कटाव को रोकने के लिए कोसी नदी की धारा को पुरानी धारा की तरफ ले जाना जरूरी है जिसे लेकर योजना तैयार कर आगे का कार्य किया जायेगा. शाहकुंड में प्रतिमा मिलने को लेकर पत्रकारों के पूछे गये सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि वहां भी एक्सपर्ट को भेजा गया है. एक्सपर्ट की रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी.

परिभ्रमण के दौरान जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी, सांसद अजय मंडल सहित अन्य अधिकारीगण, अभियंतागण एवं गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे.