नयी शिक्षा नीति से दो साल की बीएड की पढ़ाई में होगा यह बड़ा बदलाव…

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | नयी शिक्षा नीति में शिक्षा की पढ़ाई अब पूरी तरह से बदलने वाली है. अब सिर्फ चार वर्ष का बीएड स्नातक होगा और ऐसा नहीं करने वाले कॉलेज बंद हो जायेंगे.

अभी दो वर्षीय कोर्स भी चल रहे हैं और चार वर्षीय इंटीग्रेटेड कोर्स भी चल रहे हैं. लेकिन 2030 तक दो वर्षीय कोर्स समाप्त हो जायेंगे और सिर्फ और सिर्फ चार वर्षीय इंटीग्रेटेड कोर्स ही चलेंगे.

आपको बतादें कि नयी शिक्षा नीति ने शिक्षा की पढ़ाई यानी बीएड की रूपरेखा भी बदल दी है. हालांकि यह रूपरेखा अभी भी है लेकिन नयी शिक्षा नीति में यह बिल्कुल अगल ही अंदाज में होगा.

इंडियन एसोसिएनशन ऑफ टीचर एजुकेशन के प्रदेश अध्यक्ष डॉ कुमार संजीव ने बताया कि बीएड की पढ़ाई, सिर्फ बीएड कॉलेजों तक ही सीमित नहीं रह जायेगी बल्कि सामान्य कॉलेजों में भी ये कोर्स चलेंगे.

उन्होंने बताया कि आनेवाले दिनों में ये कोर्स सामान्य कॉलेजों में भी चल सकेंगे. मतलब जहां साइंस की पढ़ाई होगी वहां इंटीग्रेडट साइंस बीएड, जहां आर्ट्स की पढ़ाई होगी वहां आर्ट्स बीएड व जहां कॉमर्स की पढ़ाई होगी वे कॉमर्स के साथ बीएड कंबाइंड कोर्स चला पायेंगे. इसके लिए वहां बीएड पढ़ाने वाले शिक्षकों की नियुक्ति साथ ही साथ इंफ्रास्ट्रक्चर भी बढ़ानी होगी.