राज्य से बाहर फंसे बिहारियों के लिए तेजस्वी ने छेड़ा अभियान

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- कोरोना वायरस के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देशभर में  21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा के बाद सभी राज्यों में लॉकडाउन का कड़ा पालन करते हुए सभी नागरिकों से अनावश्यक कारण से घर से बाहर न निकलने की अपील की है. इसी क्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में 21 दिन के लॉकडाउन को देखते हुए आम जनता की राशन और रोजमर्रा की दैनिक जरूरतों की समस्याओं से निपटने के लिए 100 करोड़ों रुपए की राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से जारी की है. इस राशि का इस्तेमाल लॉकडाउन के कारण बिहार में मुश्किल में फंसे हुए मजदूरों,  रिक्शा चालक, ठेला वेंडर और अन्य गरीबों के लिए आपदा राहत केंद्र बनाने के लिए किया जायेगा.

राज्य सरकार के साथ ही बिहार के अन्य राजनीतिक दल भी लॉक डाउन के दौरान फंसे हुए लोगों की मदद के आगे आये हैं जिनमे जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और पूर्व सांसद पप्पू यादव भी जरूरतमंद लोगों के पास खाना और अन्य मदद के साथ सेनेटाइजर भी पंहुचा रहे हैं इसी क्रम में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव भी सोशल मीडिया के जरिये उन लोगों की मदद के लिए आगे आये हैं जो लोग अपने घरों से दूर अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं या बिहार में ही मुसीबतों का सामना कर रहे हैं .

राजद नेता तेजस्वी यादव सोशल मीडिया के जरिए बाहर के राज्यों में रोजगार की तलाश में गए या फिर वहां पर फंसे हुए बिहारियों की मदद कर रहे हैं. तेजस्वी यादव से बड़ी संख्या में लोग अपनी समस्या बताकर मदद की गुहार लगा रहे हैं वहीँ तेजस्वी यादव भी उन सभी लोगों की समस्यायों को ट्वीटर पर टैग कर संबंधित राज्य सरकारों और स्थानीय प्रशासन तक पहुंचा रहे हैं. इस तरह से तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर बाहरी राज्यों में फंसे हुए  बिहार के नागरिकों की मदद लिए ये अनोखा अभियान छेड़ दिया है. जिसके बाद तेजस्वी के ट्वीटर पर मदद मांगने वाले लोगों की बाढ़ सी आ गयी हैं.