बिहटा हवाई अड्डा होगा अन्तरराष्ट्रीय स्तर का

बिहटा में अन्तरराष्ट्रीय स्तर के रनवे के विकास के लिए 191.5 एकड़ जमीन चाहिए
राज्यसभा में सुशील मोदी के सवाल के जवाब में नागर विमानन मंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने एयरपोर्ट ऑथोरिटी को अब तक मुफ्त में दी है 108 एकड़ भूमि
937 करोड़ की लागत से बिहटा में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण और वायु सेना के संयुक्त उपयोग के लिए प्रस्तावित है सिविल एन्क्लेव का निर्माण

पटना / नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि बिहटा में सिविल एन्क्लेव निर्माण हेतु हवाई अडडे की मौजूदा रनवे की लम्बाई को 8,200 फीट से बढ़ा कर 12,000 फीट करने की जरूरत है. इससे यह हवाई अड्डा अन्तरराष्ट्रीय स्तर का बन जाएगा ताकि यहां B.777 और B.787 जैसे बड़े आकार के विमान व अन्तरराष्ट्रीय परिचालन के साथ-साथ कार्गो की वृद्धि हो सके. बिहटा में अभी जो रनवे की लम्बाई है, उससे ए-320 और ए-321 टाइप के छोटे विमानों का परिचालन ही संभव है.

मंत्री ने कहा कि पटना हवाई अड्डा का रनवे छोटा होने के कारण ही भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के संयुक्त उपयोग हेतु बिहटा में 937 करोड़ की लागत से बड़े आकार के विमानों के परिचालन के लिए सिविल एन्क्लेव का निर्माण प्रस्तावित है.

बिहटा हवाई अड्डे के विकास व विस्तार के लिए बिहार सरकार ने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को अब तक 108 एकड़ भूमि मुफ्त में दी है. अन्तरराष्ट्रीय स्तर के रनवे का विस्तार ताकि बड़े आकार के विमानों का परिचालन संभव हो सके, के लिए बिहार सरकार से 191.5 एकड़ जमीन की मांग की गई है ताकि रनवे की लम्बाई को बढ़ाकर 12,000 फीट किया जा सके.

उन्होंने कहा कि अन्य औपचारिकताओं और पर्याप्त भूमि की उपलब्धता के बाद निर्माण कार्य के लिए निविदा आमंत्रित की जाएगी.