विदेश से लौटे 4000 लोगों पर बिहार सरकार की नज़र

पटना (TBN रिपोर्ट) :- सम्पूर्ण विश्व अब पूरी तरह से कोरोना वायरस की चपेट में आ चुका है. विश्व में कोरोना वायरस के संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 8 लाख से अधिक हो चुका है और पूरी दुनिया में कोरोना से अब तक 40 हजार से अधिक लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं. कोरोना के बढ़ते हुए आंकड़ों से भारत भी अछूता नहीं है. भारत में कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है. भारत के सभी राज्य कोरोना से डटकर मुकाबला कर रहे हैं इसी क्रम में बिहार सरकार ने स्वास्थ्य विभाग और जिलाप्रशासन के सहयोग से चलाये गए अभियान के द्वारा 10 मार्च के बाद विदेश से बिहार आये लोगों को तलाश कर उनकी कोरोना की जांच की थी इसी क्रम को आगे बढ़ाते होते अब प्रशासन के द्वारा 23 मार्च तक विदेश यात्रा से लौटने वाले 4000 लोगों को चिन्हित कर निगरानी रखी जा रही है.

राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि “बिहार में तकरीबन 4 हजार लोग 23 मार्च तक आये हैं. विदेश से बिहार लौटे सभी लोगों के बारे में जानकारी लेते हुए सबकी जांच कराई जा रही है. विदेश से लौटकर आये सभी लोगों पर प्रशासन के द्वारा निगरानी रखी जा रही है. इसके साथ ही फोन कर उनकी हालत के बारे में पता लगाया जा रहा है. भारत के अन्य किसी राज्य में ऐसा नहीं हो रहा है. बिहार के अंदर एक्टिव स्क्रीनिंग के कारण ही कोरोना से पीड़ित मरीजों को पकड़ा गया है. मुख्य सचिव ने आगे बताया कि “बिहार में मंगलवार को 6 पॉजिटिव के सामने आये हैं. ये सभी केस एक्टिव स्क्रीनिंग से आये हैं. यह किसी भी राज्य में नहीं हो रहा है. बिहार पहला राज्य है जहां एक्टिव स्क्रीनिंग हो रही है”.

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने आगे बताया कि “जितने सारे इंटरनेशनल ट्रैवेलर्स हैं. उनकी भी आस्तिक स्क्रीनिंग की जा रही है. बिहार में 23 मार्च तक इंटरनेशनल ट्रेवलर्स आये हैं. 22 मार्च को भी कुछ लोग विदेश से आये हैं. सभी की स्क्रीनिंग की जा रही है. इसके साथ ही बिहार सरकार के लिए कोरोना आपदा में एक नई चुनौती खड़ी हो गई है. कोरोना वायरस के केंद्र बने मरकज तब्लीगी जमात के 162 लोगों की पूरी लिस्ट बिहार सरकार को सौंपी गई है. 57 विदेशी भी शामिल हैं”. इसके साथ ही दीपक कुमार ने बताया कि “सभी तब्लीगियों की तलाश जारी है. सबको ट्रेस किया जा रहा है. ATS और बिहार पुलिस सभी की तलाश में जुटी हुई है”.