बच्चे की मौत मामले में डीएम की बड़ी कार्यवाई

जहानाबाद (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- बिहार के जहानाबाद के सदर अस्पताल में हुई मानवता को शर्मशार कर देने वाली घटना में जब लॉकडाउन के दौरान एक तीन वर्षीय बच्चे की तबीयत ख़राब होने के बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा उसको एंबुलेंस उपलब्ध नहीं कराये जाने से बच्चे की हालात बहुत ज्यादा बिगड़ गयी और मासूम की समय पर उपचार न होने पर मौत हो गई. इतना ही नहीं अस्पताल में बहुत देर तक भटकने के बाद भी अस्पताल प्रशासन ने बच्चे के शव को गांव तक ले जाने के लिए भी एम्बुलेंस मुहैया नहीं कराई.

इस मामले में बड़ी कार्यवाई करते हुए जिलाधिकारी नवीन कुमार ने हेल्थ मैनेजर को संस्पेंड कर दिया है और मामले की गंभीरता को देखते हुए   दो डॉक्टर एवं 4 नर्सों पर कड़ी कार्रवाई के लिए विभाग को अनुशंसा की है. वहीं एंबुलेंस के सुपरवाइजर पर भी जिलाधिकारी ने सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

बता दें लॉकडाउन के दौरान एक तीन वर्षीय बच्चे की तबीयत ख़राब होने के बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा सही समय पर उसको एंबुलेंस नहीं मिलने से बच्चे की मौत हो गयी थी. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद देश भर के लोगों में बच्चे के इलाज में लापरवाही बरतने वाले के लिए सख्त सजा की मांग उठी थी. कई सामाजिक संस्थाओं ने बच्चे की मौत वाला वीडियो वायरल कर गैर ज़िम्मेदार अस्पताल प्रशासन और इस मामले में सभी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई के लिए आवाज़ उठाई थी.