सावधान…बिना ओटीपी के उड़ रहे बैंक अकाउंट से पैसे

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बैंक के कस्टमर ये जानते हैं कि उन्हें अपने खाते से पैसे निकालने के लिए बैंक में उनके रजिस्टर्ड मोबाईल नंबर पर ओटीपी की मदद लेनी होती है. बिना ओटीपी के पैसे निकालना नामुमकिन माना जाता है.

इसी कारण बैंकों की ओर से हमेशा लोगों को ओटीपी यानी वन टाइम पासवर्ड किसी के साथ साझा नहीं करने की सलाह दी जाती है. क्योंकि इससे फ्रॉड का खतरा बना रहता है. इसे लेकर बैंक भी अपने ग्राहकों को मैसेज, कॉल और अन्य सूचनाओं के जरिये सतर्क करते रहते हैं.

लेकिन क्या आपको मालूम है कि अब बिना ओटीपी के भी जालसाज आपकी गाढ़ी कमाई के पैसे बैंक एकाउंट से उड़ा ले रहे हैं? जी हाँ, अब साइबर जालसाजों ने बैंक से पैसा उड़ाने का तरीका बदल लिया है. अब वे बिना ओटीपी के भी बैंक एकाउंट से रुपये उड़ा ले रहे है.

आजकल लगातार ऐसे मामले बैंकों के सामने आ रहे हैं जिससे बैंक के अधिकारी भी स्तब्ध हैं. बैंक अधिकारियों के हवाले से कहा जा रहा है कि जालसाजों द्वारा लोगों के बैंक अकाउंट से पैसे निकालने की जालसाजी का नया ट्रेंड पिछले एक महीने से देखने को मिल रहा है. ऐसे मामलों पर बैंक लगातार नजर भी लगाए हुए है.

बैंक के सूत्र बताते हैं कि खाताधारक द्वारा ओटीपी शेयर नहीं करने के बावजूद भी उनके अकाउंट से पैसे निकल जाने का मामला सामने आ रहा है. ऑनलाइन जालसाजी करने वाले साइबर अपराधी ये काम ऑनलाइन केवाइसी एप के नाम पर जालसाजी कर रहे हैं.

बैंक अधिकारियों के अनुसार, बैंक खाताधारक को जालसाज की ओर से फोन कॉल आता है जिसमें वे अपने को बैंक कर्मी बताता है. वह खाताधारक को केवाईसी अपडेट करने की बात करता है. इसके लिए खाताधारक को अपने मोबाईल पर वह एक एप डाउनलोड कर इंस्टॉल करने को कहता है. इस एप के इंस्टॉल करने के कुछ सेकंडों में ही जालसाज खाताधारक के मोबाईल को हैक कर लेता है. इस पूरे प्रक्रिया के दौरान खाताधारक उस जालसाज से मोबाईल पर बात करता रहता है. इसी बीच बिना ओटीपी के ही बातचीत के दौरान जालसाज उस खाताधारक के अकाउंट से पैसे अपने / दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर कर लेता है जिसकी जानकारी खाताधारक को नहीं हो पट्टी है.

दरअसल साइबर जानकार बताते हैं कि इस तरह के फ्रॉड कॉल पेटीएम के बहाने किये जा रहे हैं. ग्राहकों को बताया जाता है कि वे केवाइसी पूरा नहीं करेंगे, तो 24 घंटे में उनका पेटीएम अकाउंट बंद हो जायेगा और उसमें जमा उनके रुपये डूब जायेंगे. भयभीत ग्राहक जालसाज की बातों में फंस जाता है. इसके अलावा जालसाज कोरोना महामारी के बहाने भी वारदात को अंजाम दे रहे हैं.

error: Content is protected !!