दहेज की भेंट चढ़ी एक और विवाहिता, पति ने जुर्म कबूल किया

 पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- एक बार फिर एक बेटी को दहेज़ के दानव ने निगल लिया. ये हृदय विदारक घटना सोमवार सुबह नौबतपुर थाना क्षेत्र के फुलचंदचक करंजा गांव की है. जिसमे पति ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी. हत्या करने के बाद पति खुद ही आत्मसमर्पण करने थाना पहुँच गया और  पुलिस को दिए बयान में उसने हत्या की बात स्वीकार करते हुए कहा कि पत्नी किसी और के साथ भागना चाहती थी, इसलिए उसे मार डाला. मृतका का नाम शोभा कुमारी था और उसकी उम्र 20 वर्ष थी मृतका के पिता का नाम सत्येंद्र कुमार था. वारदात की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

पुलिस के द्वारा की गयी छानबीन में मृतका के दादा शिवलाल प्रसाद ने बताया कि “दो साल पहले पोती की शादी मेड़गावां मठिया निवासी सुरेंद्र प्रसाद के बेटे श्रवानंद कुमार से की थी. शादी के बाद से ही दहेज में अपाची बाइक की मांग की जा रही थी और इसके लिए पोती को ससुराल वाले हमेशा प्रताड़ित करते थे. एक हफ्ते पहले श्रवानंद ससुराल आया था. रविवार की रात सब लोग खाना खाने के बाद सो गए. सोमवार सुबह कमरे में पोती के चिल्लाने और कुछ गिरने की आवाज के साथ शिवलाल की नींद खुली. पोती के कमरे का दरवाजा पीटकर खुलवाया तो दामाद ने उन्हें धक्का देकर गिरा दिया और भाग गया. जब वे कमरे में गए तो देखा कि पोती की लाश फर्श पर पड़ी है और उसके गर्दन में गमछा लपेटा हुआ था”.

लड़की पक्ष के लोगों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया और अपनी लड़की शोभा कुमारी की हत्या के लिए दामाद को दोषी ठहराया. इसी दौरान दामाद पुलिस के पास चला गया. लड़की के दादा के बयान के अनुसार कार्यवाही करते हुए जब पुलिस ने श्रवानंद कुमार से सख्ती से पूछताछ की तो वह टूट गया और उसने पूछताछ में यह कबूल कर लिया कि उसने पत्नी की हत्या की है. फिलहाल पुलिस ने आरोपी दामाद को हिरासत में ले लिया है और मामले की छानबीन और पूछताछ जारी है.

 

Advertisements