मुंगेर: दो हथियार तस्कर गिरफ्तार, कई पिस्तौलें व सैकड़ों गोलियां बरामद

मुंगेर (अभिषेक कु सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट) | हथियार तस्करों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के नेतृत्व में की गई कार्रवाई के दौरान मुंगेर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. दियारा इलाके में हथियार तस्करों के मूवमेंट और आर्म्स डीलिंग की सूचना पर की गई कार्रवाई के दौरान काफी हथियार और गोलियां बरामद की गई.

मुंगेर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत सीता चरण घाट के पास दो हथियार तस्करों के जमावड़े और आर्म्स डीलिंग की सूचना मिली थी. सूचना यह थी कि खगड़िया इलाके से कुछ गोलियां और मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सुदूर दियारा इलाके से कुछ तस्कर हथियार लेकर आने वाले हैं. इसी सूचना के बाद जिला आसूचना इकाई द्वारा रेकी कराई गई थी. सूचना का सत्यापन होने के बाद छापामारी दल का गठन किया गया. छापामारी दल का नेतृत्व पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह खुद कर रही थी. छापामारी दल में सदर एसडीपीओ नंद जी प्रसाद, कासिम बाजार थाना अध्यक्ष शैलेश कुमार मुफस्सिल थाना अध्यक्ष बृजेश कुमार सिंह, जिला आसूचना इकाई और एसपी क्यूआरटी के जवान शामिल थे.

कार्रवाई के दौरान दो हथियार तस्करों को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार तस्करों में मोहम्मद रेहम उर्फ बिट्टू और मोहम्मद गुलफाम उर्फ क्रांति शामिल हैं. मोहम्मद रेहम मुफस्सिल थाना अंतर्गत सुजावलपुर का रहने वाला है जबकि गुलफाम उर्फ क्रांति मिर्जापुर बरदह का रहने वाला है. दियारा इलाके में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के दौरान आठ देशी पिस्तौल, एक मास्केट बरामद किया गया. इसके अलावा 7.65 एमएम बोर की 270 गोलियां, .315 बोर की 10 गोलियां, 30 बोर की 65 गोलियां, नाइन एमएम की 14 गोलियां बरामद की गई हैं. गोलियों को खगड़िया से लाकर रेहम उर्फ बिट्टू बेचा करता था. वही उसने अपने सहयोगी गुलफाम को दियारा से ही हथियार लाने के लिए भेजा था. दोनों साथ मिलने के बाद इन हथियारों को दूसरी जगह पर डंप कर चुनाव के बाद बिक्री करते. ऐन समय पर पुलिस को इसकी सूचना मिल गई और पुलिस द्वारा कार्रवाई कर इनकी योजना को विफल कर दिया गया है.

हथियारों से भरे थैले को फेंक दिया था पानी में

सीता चरण घाट के पास पानी की एक छोटी धारा में हथियारों को फेंक दिया गया था. दरअसल जिला आसूचना इकाई की टीम को पुलिस अधीक्षक के द्वारा रेकी के लिए भेजा गया था. रेकी टीम के बाद कासिम बाजार थानाध्यक्ष के साथ एसपी क्यूआरटी के जवानों को भी टीम की मदद में भेजा गया. दियारा इलाका होने के कारण छापामारी दल को काफी एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए थे. पुलिस को देखते ही तस्कर भागने लगे और भागते हुए उन्होंने हथियारों के एक थैले को पानी के नाले में फेंक दिया था, जिसे काफी मशक्कत के बाद पुलिस के द्वारा खोज निकाला गया. इसके अलावा गोलियों से भरे एक पैकेट को झाड़ियों में भी फेंक दिया गया था. इलाके में पुलिस की कार्रवाई करीब तीन घंटे तक चली.

हथियार तस्करी के नेटवर्क पर पुलिस की लगातार कार्रवाई

मुंगेर पुलिस हथियार तस्करी के नेटवर्क पर लगातार कार्रवाई कर रही है. पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि हथियार तस्करी का एक बड़ा नेटवर्क था जिसको धीरे-धीरे तोड़ा जा रहा है. जिला आसूचना इकाई द्वारा हथियार बनाने वाले और हथियार बेचने वाले तस्करों की एक सूची बनाई गई थी जिसके बाद उनकी गतिविधियों के बारे में आसूचना संग्रह कर प्रभावी कार्रवाई की जा रही है.

आर्म्स एक्ट के सभी केसों में स्पीडी चार्जशीट का दिया गया निर्देश

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने आर्म्स एक्ट के सभी मामलों में स्पीडी चार्जशीट का निर्देश दिया है. बीते दी महीनों में दर्ज कांडों में आधे से अधिक मामलों में चार्जशीट करवा दिया गया है. वहीं बीते 15 दिनों में दर्ज मुकदमे में चुनाव के बाद एक सप्ताह के अंदर चार्जशीट करने का निर्देश सभी थानाध्यक्षों को दिया गया है. चार्जशीट कराने के बाद इन सभी मामलों का स्पीडी ट्रायल कराया जाएगा ताकि हथियार तस्करी में संलिप्त लोगों को न्यायालय से सजा दिलाई जा सके.