ह’त्या कर गंगा नदी में फेंकने के मामले में 3 पु’लिस की हि’रासत में

मुंगेर (TBN – The Bihar Now डेस्क) | मुंगेर कोतवाली थानांतर्गत बासुदेवपुर ओपी में हुए सोनू मंडल की हत्या (कांड संख्या 218/ 20) मामले का मुख्य आरोपी बाल्मीकि यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही दो अन्य नामजद अभियुक्तों ने कुर्की के दौरान सरेन्डर कर दिया. असरगंज थाना क्षेत्र में वाल्मीकि की गिरफ्तारी की गई.

गौरतलब है कि गत 3 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन सोनू मंडल नामक युवक अपहरण के बाद हत्या कर उसका शव गंगा में फेंक दिया गया था. सोनू मण्डल के परिजनों ने वाल्मीकि यादव, सुनील यादव, अरुण यादव सहित छह लोगों को नामजद बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी जिसमें वाल्मीकि यादव के तीन बेटों का भी नाम था.

6 नामजद अभियुक्तों की गिरफ़्तारी कर ली गई है जबकि तीन अन्य नामजद अभियुक्तों की तलाश में पुलिस अभी भी छापामारी कर रही है. मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह के निर्देश मिलने के बाद पुलिस ने कोर्ट से कुर्की वारंट लिया. उसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल के साथ अभियुक्तों के घर की संपत्ति कुर्क की गई थी. कुर्की के दौरान सुनील यादव के घर से 57 राउंड गोलियां बरामद की गई हैं तथा दो खोखा भी बरामद किया गया है.

कुर्की के लिए सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस पहुंची थी. कुर्की की वीडियोग्राफी भी कराई गई. अरुण यादव ने पुलिस द्वारा कुर्की शुरू करने के दौरान पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. जबकि सुनील यादव ने सहरसा जिला में पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया.

वाहन चेकिंग के दौरान असरगंज थाना ने मुख्य नामजद अभियुक्त बाल्मीकि यादव को गिरफ्तार किया. हुआ यह कि बाल्मीकि यादव के बांका से मुंगेर आने की सूचना मिलने पर असरगंज थाना क्षेत्र में पुलिस ने सघन वाहन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया था. इसी दौरान वाल्मीकि यादव को गिरफ्तार कर लिया गया. उसके गिरफ्तार होने की सूचना असरगंज थानाध्यक्ष ने मुंगेर पुलिस अधीक्षक को दी.

मारकर शव को गंगा में फेंकने की बात स्वीकारी

पुलिस द्वारा की गई पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अपराधी बाल्मीकि यादव ने सोनू मंडल की हत्या कर उसके शव को गंगा नदी में फेंकने की बात को स्वीकार किया है. उसके अनुसार उसने आपसी प्रतिद्वंद्विता में सोनू मंडल की हत्या अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर कर दी थी.

वाल्मीकि यादव ने पूछताछ के दौरान बताया कि बगचपरा गांव में एक स्कूल के पास सोनू मण्डल को पीठ में सटाकर गोली मारी गई. उसके बाद बुरी तरह घायल सोनू मण्डल को जबरदस्ती नाव पर बैठा कर गंगा नदी की मुख्यधारा में ले जाया गया. फिर हत्या कर उसके शव को गंगा नदी में फेंक दिया गया था.

घटना के बाद स्थानीय पुलिस द्वारा गंगा नदी में भी शव की तलाश में अभियान चलाया गया था लेकिन कुछ बरामद नहीं हो पाया था. अपहरण के बाद हत्या कर शव को गंगा नदी में फेंके जाने की इस घटना में वाल्मीकि यादव का पूरा परिवार शामिल था.