व्हाट्सप्प पर चलता ये सरकारी कार्यालय, एसडीएम हैं गुस्सा में

बाढ़ (अखिलेश कु. सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट) | राजधानी से सटे बाढ़ अनुमंडल में एक ऐसा भी सरकारी ऑफिस है जो व्हाट्सप्प के माध्यम से संचालित होता है. जी हां, बाढ़ अनुमंडल में ऐसा ही बिहार सरकार के सहकारिता विभाग का कार्यालय है. यहां इस विभाग का काम व्हाट्सप्प ऐप पर चलता है.

इस बात का खुलासा तब हुआ जब बाढ़ अनुमंडल के एसडीएम सुमित कुमार ने यहां का मुआयना किया. दरअसल एसडीएम सुमित कुमार को लगातार पैक्स अध्यक्षों और किसानों की तरफ से इस कार्यालय के बारे में शिकायत मिल रही थी कि यहां के अधिकारी और कर्मी हमेशा अनुपस्थित रहते हैं. इसी आधार पर बुधवार को जब एसडीएम सहकारिता विभाग के कार्यालय पहुंचे तो वहां एक कर्मी को छोड़कर कोई अन्य कर्मी नहीं मिला. सभी गैर हाजिर थे. बताया जाता है कि इस कार्यालय में एक अनुमंडलीय सहकारिता अधिकारी के साथ 7 कर्मी की नियुक्ती है.

एसडीएम में कार्यालय में रखे गए रजिस्टर का अवलोकन किया तथा पाया कि पिछले एक महीने में यहां से सिर्फ एक पत्र निर्गत किया गया है, जो सिर्फ दिखावे के लिए किया गया है. जबकि इस कार्यालय से करोड़ों का सरकारी लेन-देन होता है तथा धान की खरीद होती है.

सुमित कुमार ने कहा कि निरीक्षण के बाद यह लगता है कि यह ऑफिस व्हाट्सप्प के द्वारा ही संचालित हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस बाबत वो जिला पदाधिकारी को रिपोर्ट करने जा रहे हैं. उसके बाद सभी अनुपस्थित कर्मचारियों पर शो-कॉज़ होगा और उनके वेतन रोके जाएंगे. यदि शो-कॉज़ का जवाब नहीं मिलेगा तो उनपर विभागीय कार्यवाई की जाएगी.

आप यह भी पढ़ें – राजधानी को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए विशेष अभियान

एसडीएम ने सुमित कुमार ने जांच के बाद मीडिया से कहा कि सरकार किसानों के लिए कितनी भी योजना बना ले, पर यदि अधिकारी और कर्मचारी उसे धरातल पर सही ढंग से नहीं उतारे उतारेंगे, तब तक योजनाओं का लाभ लोगों या किसानों को नहीं मिलेगा.